Thursday , January 20 2022

केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में देर रात लगी आग, कोई हताहत नहीं

-दूसरी मंजिल पर लगी आग के कारणों का अभी पता नहीं 

लखनऊ। राजधानी लखनऊ स्थित किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के ट्रॉमा सेंटर में बुधवार को देर रात करीब 11 बजे आग लग गई। यहां दूसरी मंजिल पर कॉरीडोर-लिफ्ट में शॉर्ट-सर्किट से चैंबर धू-धूकर जलने लगा। आनन-फानन में पूरी बिल्डिंग की पावर काट दी गयी। आग से वार्डों में धुआं भर गया। देखते ही देखते वहां अफरा-तफरी का माहौल बन गया, मरीज-तीमारदारों को यहां के रेजीडेंट्स, कर्मचा‍रियों की मदद से बाहर निकाला गया। किसी व्‍यक्ति को नुकसान होने की खबर नहीं है। दमकल की पांच गाडि़यों ने पहुंचकर आग पर काबू पाया।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पांच तल वाले ट्रॉमा सेंटर में रात 11 बजे दूसरी मंजिल पर आग लग गई। यहां स्थित ऑर्थोपेडिक और मेडिसिन वार्ड के कॉरीडोर के फॉल्स से लपटे निकलने लगीं। बताया जाता है कि इसके बाद लिफ्ट में भी धमाका हुआ और लिफ्ट का चैंबर जलने लगा। दूसरी मंजिल पर 39 बेड का मेडिसिन वार्ड और 26 बेड का ऑर्थोपेडिक वार्ड है, लेकिन लॉकडाउन के कारण मरीजों की संख्‍या कम थी। बताया जा रहा है कि करीब 50 मरीजों को यहां से गांधी वार्ड, डालीगंज स्थिति लिम्‍ब सेंटर व बाल रोग में शिफ्ट किया गया। ऐसे में रेजीडेंट, तीमारदार, वार्ड ब्वॉय व अन्य कर्मचारी मरीज को रैंप से नीचे लाए। आपको बता दें कि वर्ष 2017 में जुलाई के महीने में भी इसी दूसरे तल पर आग लगी थी जिसमें डिजास्‍टर मैनेजमेंट का वार्ड खाक हो गया था।

ट्रॉमा सेंटर में केजीएमयू सीएमएस डॉ. एसएन शंखवार, ट्रॉमा सीएमएस डॉ. संतोष कुमार, एमएस डॉ. सुरेश कुमार, केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. संदीप तिवारी, डॉ. समीर मिश्रा पहुंचे। इन्होंने व्यवस्थाओं की जांच की। प्रवक्ता डॉ. संदीप तिवारी कहना है कि कुल 50 मरीज शिफ्ट किए गए। कोई मरीज हताहत नहीं हुआ है। फि‍लहाल आग के कारणों का पता नहीं चला है, इसकी जांच करवायी जाएगी।

इस बारे में डीजी यूपी फायर सर्विस राजकुमार विश्‍वकर्मा ने बताया कि केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में दूसरी मंजिल पर लिफ्ट लॉबी में आग लगी थी। सीएफओ और एसीपी आई। सिंह ने मौके पर 4-5 फायर ब्रिगेड वाहन पहुंचे।  किसी मरीज की मौत नहीं हुई है, मरीजों को शिफ्ट किया गया। लिफ्ट लॉबी रूम की फाल्‍स सीलिंग छत से आग लगी है।