हमने न तो हिम्‍मत छोड़ी और न छोड़ा इलाज, इसीलिए दे पाये कैंसर को मात

विश्‍व कैंसर दिवस पर केजीएमयू में आयोजित समारोह में कैंसरमुक्‍त हो चुके मरीजों ने साझा किये अनुभव

लखनऊ। हम लोग कैंसर से ग्रस्‍त थे, लेकिन अब ठी‍क हो चुके हैं। हां एक समय ऐसा था कि हम लोग अपने रोग को लेकर निराशा के भाव से भरे हुए थे लेकिन हमने हिम्‍मत और इलाज दोनों को नहीं छोड़ा और इस तरह अपने रोग को हरा पाये। कुछ ऐसे ही भाव थे कैंसर के शिकार रह चुके रोगियों के। विश्‍व कैंसर दिवस के उपलक्ष्य में शनिवार को किंग जार्ज चिकित्सा विष्वविद्यालय स्थित बाह्य रोगी विभाग में कैंसर जागरूकता कार्यक्रम का सफल आयोजन सम्पन्न हुआ।

 

इस कार्यक्रम में कैंसर रोग से ठीक हो चुके करीब 40 व्‍यक्तियों ने भी भाग लिया। इन पूर्व मरीजों ने अपने अनुभव साझा किये। इन मरीजों को सम्‍मानित भी किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ  कुलपति प्रो मदन लाल ब्रह्म भट्ट के उद्बोधन से हुआ। प्रो0 भट्ट ने रोगियों व सामान्य जनता को कैंसर के कारणों, उपचार, बचाव तथा रोगी की देख-रेख के बारे मे जानकारी दी।

 

समारोह के दौरान के0जी0एम0यू0 इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग के विद्यार्थियों द्वारा नुक्कड़ नाटक कर जन समुदाय में कैंसर के प्रति जागरूकता का संदेश  दिया गया। कुलपति द्वारा नुक्कड़ नाटक दल के सदस्यों को पांच हजार का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की गई। नर्सिंग व पैरामेडिकल के छात्रों द्वारा पोस्टर गैलरी बनाई गई। इसमें दिशि चौधरी तथा रीतिका ने एकसाथ प्रथम स्थान प्राप्त किया। तृप्ति भारती तथा निधि ने क्रमश द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया।

इस अवसर पर कैंसर की जानकारी देने से सम्‍बन्धित वीडियो वाले वाहन को कुलपति ने रवाना किया। रेडियोथेरेपी विभाग के डॉ सुधीर सिंह ने बताया कि इस वीडियों में राज्यपाल राम नाईक, चिकित्सा शिक्षा मंत्री आषुतोष टण्डन  एवं कुलपति डॉ एमएलबी भट्ट के साथ-साथ लखनऊ के सरकारी तथा गैरसरकारी कैंसर विषेषज्ञों ने सरल शब्दों में इस रोग के प्रति जागरूकता पैदा करने की कोशिश की है। यह वाहन कल विश्‍व  कैंसर दिवस पर लखनऊ स्थित 1090 चौराहा, वेब मॉल, इमामबाड़ा एवं के0जी0एम0यू0  चौराहे पर जन समुदाय को कैंसर के प्रति जागरूक करने का कार्य करेगा।

 

कार्यक्रम में अधिष्ठाता, नर्सिंग संकाय, प्रो0 मधुमती गोयल,  मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो0 एस0एन0 संखवार, विभागाध्यक्ष रेडियोथेरेपी विभाग, प्रो0 राजीव गुप्ता, प्रो0 कीर्ति श्रीवास्तव,  विभागाध्यक्ष, आंको सर्जरी विभाग प्रो0 अरूण चतुर्वेदी, , प्रो0 विजय कुमार सहित विभिन्न संकाय सदस्य एवं रेजिडेण्ट चिकित्सक उपस्थित रहें।