हुनरमंद महिलाओं की उत्‍पाद बनाने से लेकर बेचने तक में मदद करेगी विभा वाणी

विज्ञान भारती की सामाजिक विंग ने शुरू की दो दिवसीय कार्यशाला

लखनऊ। उन महिलाओं, जिनके हाथ में हुनर तो है लेकिन अपना व्‍यवसाय शुरू करने के लिए धनराशि कुछ खास नहीं है, ऐसी महिलाओं का हाथ थामने की पहल की है विभा वाणी ने। विभा वाणी संस्‍थाओं की मदद से इन महिलाओं की न सिर्फ उत्‍पाद निर्माण में बल्कि उस उत्‍पाद की बिक्री में भी सहयोग करेगी, इससे होने वाले लाभ से महिला की आर्थिक और सामाजिक स्थिति को मजबूत किया जा सकेगा। इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल 2018 का सफलता पूर्वक आयोजन करने वाले विज्ञान भारती का सामाजिक विंग है विभा वाणी। विभा वाणी की उत्तर प्रदेश की विभिन्न संस्थाओं को एक मंच प्रदान करके प्रत्‍येक जिले में रोजगार से जोड़ने की तैयारी है। इस दिशा में कार्य करने के लिए आज शनिवार से दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन बायोटेक पार्क, कुर्सी रोड, जानकीपुरम, लखनऊ में शुरू हुआ।

 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ आलोक धवन, निदेशक, आई आई टी आर (सी एस आई आर), विशेष अतिथि डॉ वि बी खर्बदे महानिदेशक (एन आर एल एस), डॉ संजीव ओझा सचिव विज्ञान भारती अवध, श्रेयांश मंडलोई संगठन मंत्री अवध, एनपी राजीव कार्यकारी निदेशक विभा वाणी उपाध्यक्ष एन आई एफ शामिल हुए।

दो दिवसीय कार्यशाला के आज प्रथम दिवस प्रथम भाग मे स्किल इंडिया, सम्पोश्निये खेती, पानी का प्रभंदन, वातावरण, स्वच भारत, महिला एवं बाल विकास जैसे संवेदन शील विषयो पर संजय सिंह सी टी इ डी, ओ पी मिश्रा डी ए ओ, प्रो विभूति राय डिपार्टमेंट ऑफ़ जियोलॉजी लखनऊ यूनिवर्सिटी, डॉ द्रौप्ती यादव डिपार्टमेंट ऑफ़ एनवायर्नमेंटल साइंस सी एस जे एम कानपुर यूनिवर्सिटी, सौम्या शंकर स्टेट हेड वीमेन एस आर सी ने प्रशिक्षण दिया।

 

दूसरे भाग में विभिन्न संस्थाओं ने अपनी अपनी संस्थाओं के कार्यों को प्रदर्शित किया। प्रथम दिन सबसे महत्पूर्ण विषय माइक्रो सस्तैनबेल डेवलपमेंट ग्रुप के विकसित मॉडल पर चर्चा हुई, जिसमे लाखों महिलाओ को रोज़गार देने के लिए विकसित मॉडल पर संस्थाओं के सहयोग से उत्तर प्रदेश मे आगे बढ़ाया जायेगा तथा इ कॉमर्स पोर्टल विकर्ट के माध्यम से छोटे व बड़े सामाजिक उद्यमियों के उत्‍पाद को मार्केट प्रदान किया जायेगा।

रमा तिवारी सह संयोजक विभा वानी यूपी चैप्टर तथा राष्ट्रीय संयोजक वैभव भारती के द्वारा उत्तर प्रदेश में पहली बार इस तरह की शुरुआत की गई जहाँ पर प्रदेश के विभिन्न जिलों से कई स्वयं सेवी संस्थाओं के साथ एक मंच पर राष्ट्र निर्माण का संकल्प लिया तथा एक साथ कार्य करने की योजना बनी जिससे कि सबका साथ सबका विकास की धारणा फलीभूत हो सके। रमा तिवारी द्वारा प्रदेश में विभिन्न संस्थाओं के सहयोग से लाखों महिलाओं को रोजगार दिलाने के लिए माइक्रो ससटेनेबल डेवलोपमेन्ट ग्रुप प्लान को साझा किया तथा छोटे बड़े उद्यमियों तथा सामाजिक संस्थाओं के उत्पाद बिक्री के लिए विज्ञान भारती तथा विभा वाणी द्वारा विकसित वी कार्ट ई कॉमर्स पोर्टल की जानकारी दी। रमा तिवारी ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत विभा वाणी के माध्यम से सरकार के सहयोग से हम प्रदेश में उद्यमिता विकास को बढ़ावा देंगे तथा सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ विभा वाणी से जुड़ी संस्थाओ को दिलाने का प्रयास करेंगे। उन्‍होंने बताया कि दूसरे राज्‍यों में भी यह योजना विभा वाणी चला रही है।