Sunday , November 27 2022

ट्रम्‍प की फि‍र चेतावनी, पाकिस्तान को अपनी जमीन से आतंकवाद बंद करना होगा

-अमेरिकी राष्‍ट्रपति की 24 घंटे के अंदर पाकिस्‍तान को दूसरी बार चेतावनी
-मोदी के साथ संयुक्‍त प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में भारत के लोगों की सराहना की

 

नयी दिल्‍ली/लखनऊ। अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रम्‍प ने इस्‍लामिक आतंकवाद को लेकर पाकिस्‍तान को 24 घंटे के अंदर दूसरी बार चेतावनी दी है। भारत के दौरे पर आये ट्रम्‍प ने कल सोमवार को अहमदाबाद के मोटेरा स्‍टेडियम में अपने सम्‍बोधन और आज नयी दिल्‍ली स्थित हैदराबाद हाउस में संयुक्‍त प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में ट्रम्‍प ने साफ कहा कि भारत और अमेरिका आतंकवाद की लड़ाई में एकसाथ हैं। ट्रम्‍प ने कहा कि पाकिस्तान को अपनी जमीन से आतंकवाद बंद करना होगा, उन्‍होंने साफ कहा कि कट्टर इस्लामिक आतंकवाद को खत्म करे।

ट्रम्‍प ने कहा कि भारत-अमेरिका रिश्ते मजबूत हुए हैं। भारत के साथ अमेरिका की दोस्ती ऐसी कभी नहीं थी। मेंटल हेल्थ को लेकर भी सहयोग पर बात हुई है। रक्षा के क्षेत्र में तीन हजार डॉलर की डील हुई है। उन्‍होंने कहा कि भारत-अमेरिका के रिश्ते नए मुकाम पर हैं। दोनों के बीच 5 जी तकनीक को लेकर को लेकर चर्चा हुई।  ट्रम्‍प ने कहा कि यह दौरा मैं कभी नहीं भूल पाऊंगा। उन्‍होंने कहा कि मैं मोदी का बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूं, आपके साथ यहां रह कर बहुत अच्छा लगा, मिलेनिया और मुझे भारत के लोगों के बर्ताव अच्छा लगा। हम हमेशा इस अद्भुत स्वागत और प्यार को याद रखेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने सम्‍बोधन में कहा कि राष्‍ट्रपति ट्रम्‍प और मैंने हमारे सम्‍बन्‍धों को व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी के स्‍तर पर ले जाने का फैसला लिया है। उन्‍होंने कहा कि सम्‍बन्‍धों को इस मुकाम तक लाने में ट्रम्‍प का अमूल्‍य योगदान रहा है। उन्‍होंने कहा कि भारत और अमेरिका हर अहम पहलू जैसे रक्षा और सुरक्षा, एनर्जी स्‍ट्रेटिजिक पार्टनरशिप, टेक्‍नोलॉजी कोऑपरेशन, ग्‍लोबल कनेक्टिविटी, व्‍यापारिक सम्‍बन्‍ध या लोगों को लोगों से बांधना हो के बारे में प्रयासरत रहेंगे। मोदी ने कहा कि आतंक के समर्थकों को जिम्‍मेदार ठहराने के लिए हमने अपने प्रयासों को और बढ़ाने का निश्‍चय किया है।

इससे पूर्व ट्रम्‍प ने आज राजघाट पहुंचकर महात्‍मा गांधी की समाधि पर उन्‍हें श्रद्धांजलि दी। इसके अलावा ट्रम्‍प की पत्‍नी मिलेनिया दिल्‍ली के एक सरकारी स्‍कूल गयीं, जहां उन्‍होंने बच्‍चों के लिए लगने वाले हैप्‍पी क्‍लास को देखा। यहां मिलेनिया का भारतीय परम्‍परा के साथ स्‍वागत किया गया, यहां पर मिलेनिया ने बहुत ऐन्‍ज्‍वॉय किया।