संक्रामक रोग फैला रहे तम्‍बाकू व इसके उत्‍पादों पर देश भर में लगेगा बैन

-आईसीएमआर की सिफारिश के मद्देनजर केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने लिखा राज्‍यों को पत्र

डॉ हर्षवर्धन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

नई दिल्ली/लखनऊ। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने सभी राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों से अपील की है कि वे अपने यहां तम्‍बाकू पर प्रतिबंध लगाने की कार्यवाही करें, डॉ हर्षवर्धन ने यह अपील इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आर्इसीएमआर) की उस सिफारिश के मद्देनजर की है जिसमें आईसीएमआर ने सार्वजनिक स्‍थानों पर थूकने और धूम्रपान को कोविड-19 जैसे संक्रामक रोग बढ़ने का कारण बताया गया है।

इसी तरह का एक पत्र डॉ हर्षवर्धन ने उत्‍तर प्रदेश के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जय प्रताप सिंह को भी लिखा है। बीती 11 मई को लिखे गये पत्र में स्वास्थ्य मंत्री ने सभी राज्यों और केंद्र शासित राज्यों से सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर भी बैन लगाने की अपील की है। उन्‍होंने कहा है कि कोरोना वायरस से बचाव के उपायों के लिए राजस्थान और झारखंड ने अपने यहां तम्‍बाकू पर बैन लगा दिया है।  

डॉ हर्षवर्धन ने अपने पत्र में कहा है कि तंबाकू खाने वालों में सार्वजनिक स्थान पर थूकने की आदत होती है। यह आदत बेहद खतरनाक हो सकती है, खासकर इससे कोविड-19, तपेदिक, स्वाइन फ्लू, एन्सेफलाइटिस आदि बीमारियां फैल सकती हैं। डॉ हर्षवर्धन का कहना है कि धूम्रपान करना भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है,  क्‍योंकि अगर ऐसा स्थान, जहां ज्यादा लोग जमा होते हैं, वहां धूम्रपान करने से कोविड का खतरा भी रहता है।

पत्र में डॉ हर्षवर्धन ने कहा है कि चबाने वाले तंबाकू उत्पादों और सुपाड़ी से मुंह में लार का उत्पादन बढ़ जाता है, इसके बाद थूकने की बहुत तीव्र इच्छा होती है। नतीजा यह होता है कि व्‍यक्ति जहां देखो वहीं थूक देता है। सार्वजनिक स्थानों पर थूकने से कोविड-19 का संक्रमण बढ़ सकता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें और केंद्रशासित प्रदेश सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर प्रतिबंध लगाकर न सिर्फ स्वच्छ भारत, बल्कि स्वस्थ भारत का लक्ष्य हासिल करने में भी अहम भूमिका निभा सकते हैं।

डॉ हर्षवर्धन ने केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा 1 मई को जारी दिशानिर्देशों का भी हवाला देते हुए कहा है कि इन दिशानिर्देशों में कहा गया है कि सार्वजनिक स्थानों पर थूकना दंडनीय अपराध होगा। केंद्रीय मंत्री का साफ कहना है कि तंबाकू और थूकने पर बैन से कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने में मदद मिलेगी।


डॉ हर्षवर्धन ने पत्र में लिखा है कि हाल ही में राजस्थान सरकार अध्यादेश लेकर आई है, इसके तहत पान, गुटखा और तंबाकू के सार्वजनिक स्थान पर बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। झारखंड ने भी ऐसा ही कानून बनाया है, ताकि सार्वजनिक स्थानों पर थूकने की आदत पर रोक लगाई जा सके। उन्‍होंने इस बारे में राजस्थान और झारखंड के प्रयासों की सराहना करते हुए सभी राज्यों से ऐसे ही उपाय अपनाने की अपील की है।