यूपी में स्थिति भयावह, 8490 नये मरीज, लखनऊ में हर घंटे करीब 100 लोग संक्रमित हो रहे

-बीते 24 घंटों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण से 39 मौतें भी, लखनऊ में 11

-प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गोरखपुर, मेरठ की स्थिति भी गंभीर होती जा रही

-गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद, बरेली, झांसी, सहारनपुर, रायबरेली जिलों में भी नये मरीज 100 से ज्‍यादा निकल रहे  

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कोरोना की दूसरी लहर का कहर उत्‍तर प्रदेश पर भयंकर तरीके से टूट रहा है, रोज नये रिकॉर्ड के साथ संक्रमण तेजी से फैल रहा है, बीते 24 घंटों में 8490 नये लोग संक्रमण की चपेट में आये हैं, जबकि 39 लोगों की दुखद मौत हुई है। प्रदेश में सर्वाधिक बुरा हाल लखनऊ का है, यहां प्रति घंटे करीब 100 लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे है, आंकड़ों के अनुसार एक दिन में 2369 नये कोविड मरीज लखनऊ में सामने आये हैं जबकि 11 लोगों की मौत भी हुई है। इस प्रकार कोरोना से मरने वालों की संख्या उत्तर प्रदेश में 9000 को पार कर गई है, यहां अब तक 9,003 लोगों की मृत्यु हुई है वर्तमान समय में प्रदेश में 39,338 सक्रिय मरीज है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार इस अवधि में जिन 39 लोगों की मौत हुई है उनमें लखनऊ में 11, प्रयागराज में 6, कानपुर नगर में 4, वाराणसी, मेरठ, अयोध्या, बाराबंकी, लखीमपुर खीरी में दो-दो लोगों की तथा गाजियाबाद, मथुरा, शाहजहांपुर, हरदोई, रामपुर, प्रतापगढ़, बिजनौर, सिद्धार्थनगर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। नए निकले केसेज में लखनऊ में सर्वाधिक 2369 के अतिरिक्त प्रयागराज में 1040, वाराणसी में 794, कानपुर नगर में 368, गोरखपुर में 259, मेरठ में 222, गाजियाबाद में 108, गौतम बुद्ध नगर में 134, बरेली में 135, झांसी में 180, सहारनपुर में 109, रायबरेली में 121 लोगों के अलावा मुरादाबाद में 84, अलीगढ़ में 24, आगरा में 57, मुजफ्फरनगर में 83, अयोध्या में 70, बाराबंकी में 73, बलिया में 75, लखीमपुर खीरी में 46, मथुरा में 85, शाहजहांपुर में 28, जौनपुर में 88, देवरिया में 50, आजमगढ़ में 89, बुलंदशहर में 48, हरदोई में 48, महाराजगंज में 24, इटावा में 41, कुशीनगर में 62, रामपुर में 56, प्रतापगढ़ में 32, गाजीपुर में 74, बस्ती में 34, चंदौली में 78, गोंडा में 69, सोनभद्र में 66, सुल्तानपुर में 36, सीतापुर में 41, उन्नाव में 47, फर्रुखाबाद में 39, बिजनौर में 47, हापुड़ में 27, अमरोहा में 36, बहराइच में 37, फिरोजाबाद में 33, बदायूं में 21, सिद्धार्थनगर में 30, जालौन में 45, बांदा में 62, ललितपुर में 89, फतेहपुर में 12, मैनपुरी में 13, शामली में 32, अमेठी में 15, औरैया में 52, मिर्जापुर में 90, संत कबीर नगर में 41, कन्नौज में 18, मऊ में 37, एटा में 12, बलरामपुर में 37, भदोही में 60, बागपत में 11, चित्रकूट में 32, कौशांबी में 25, अंबेडकर नगर में 22, कासगंज में 10, महोबा में 14 और श्रावस्ती में 13 मरीजों के अलावा चार जिलों में यह संख्या इकाई में है। जबकि एकमात्र हाथरस ऐसा जिला है जहां एक भी मरीज नया नहीं पाया गया है। इस अवधि में 1084 लोगों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से डिस्चार्ज किया गया है। इस प्रकार पिछले साल से अब तक कुल ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा 6,06,063 पहुंच गया है।