Saturday , December 4 2021

कोरोना से मृत सभी कर्मियों के परिजनों को भी मिलें 25 लाख रुपये

-इप्‍सेफ ने प्रधानमंत्री से की मांग, एक माह में दें आश्रितों को नौकरी

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। इंडियन पब्लिक सर्विस इंप्लाइज फेडरेशन (इप्सेफ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष वी पी मिश्र एवं महामंत्री प्रेमचंद्र ने प्रधानमंत्री को पत्र भेजकर मांग की है कि कर्मचारियों के सेवाकाल में कोविड-19 महामारी से जिनकी मृत्यु हो गई है उनके परिवार को भी न्यूनतम 25 लाख की अनुग्रह धनराशि प्रदान की जाए क्योंकि ऐसे कर्मचारियों का परिवार महान आर्थिक संकट में पड़ गया है। क्‍योंकि जो कर्मचारी पुरानी पेंशन के दायरे में नहीं आते हैं,  उनका परिवार तो भुखमरी के कगार पर पहुंच गया है।

वी पी मिश्र ने प्रधानमंत्री से यह भी आग्रह किया है कि कोविड-19 की बीमारी से मृत कर्मचारियों के मृतक आश्रित को स्थायी नियुक्ति, ग्रेच्युटी, पारिवारिक पेंशन एवं अन्य देयकों का भुगतान भी एक माह के अंदर किया जाए।

प्रेमचंद्र ने बताया कि केंद्र एवं राज्यों के लगभग 10 हजार कर्मचारी इस बीमारी से मृत हो चुके हैं और आगे भी प्रभावित हो सकते हैं। मानवीय दृष्टिकोण से इस निर्णय से देशभर के कर्मचारियों का मनोबल बढ़ेगा और दुखी परिवार प्रधानमंत्री का आभारी होगा।

राष्ट्रीय सचिव अतुल मिश्रा ने बताया कि इस महामारी में बहुत से कर्मचारियों का पूरा परिवार ही मौत का शिकार हो चुका है भविष्य में भी संक्रमित न होने की कोई गारंटी नहीं है क्योंकि कर्मचारियों को अपने दायित्व का निर्वहन करने जाना ही पड़ता है।

इप्सेफ के पदाधिकारियों ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्ष वर्धन से भी आग्रह किया है कि मानवीय दृष्टिकोण से उचित इस मांग को पूरा कराने में सहयोग प्रदान करने का कष्ट करें। इप्सेफ इसके लिए सदा आभारी रहेगा।