Saturday , November 13 2021

Tag Archives: increased

‘भविष्‍य के डॉक्‍टरों’ का इंटर्नशिप भत्‍ता तो बढ़ा, लेकिन खुशी नहीं

-तत्‍काल प्रभाव से 7,500 से बढ़ाकर किया गया 12,000 प्रतिमाह सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने एमबीबीएस और बीडीएस परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थियों को दिए जाने वाले रोटेटिंग इंटर्नशिप भत्ते को बढ़ाकर 12,000 प्रतिमाह कर दिया है, अभी तक यह भत्ता 7500 रुपये प्रति माह दिया जा …

Read More »

खोयी हुई नाक वापस मिलने से बढ़ गया नौशाद का आत्‍मविश्‍वास

बाइक एक्‍सीडेंट में खत्‍म हो गयी नाक को किया प्‍लास्टिक सर्जरी से तैयार सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो              लखनऊ। सऊदी अरब में चालक की नौकरी करने वाले 21 वर्षीय नौशाद की नाक, जो एक दुर्घटना में रगड़ कर समाप्‍त हो गयी थी, उसे गत दिवस प्‍लास्टिक …

Read More »

कानून का पालन कराने में की गयी सख्‍ती रंग लायी, बढ़ गयी बेटियों की संख्‍या

उत्‍तर प्रदेश में तीन साल पूर्व प्रति हजार पर 902 थीं लडकियां अब हो गयीं 918 लखनऊ। श्रीरामचरित मानस में कहा गया है कि भय बिन होय न प्रीत। पीसीपीएनडीटी एक्‍ट यानी गर्भ में लड़की की पहचान करने के खिलाफ कानून को लागू करने के लिए जब इच्‍छाशक्ति के साथ …

Read More »

एंटीबायोटिक्स रजिस्टेंस के बढ़ते खतरे पर राहत का मलहम

एरा मेडिकल यूनिवर्सिटी ने डेवलप किया सही एंटीबायोटिक चुनने का सॉफ्टवेयर ‌ लखनऊ। एंटीबायोटिक्स के बढ़ते रजिस्टेंस की खबरों के बीच एक राहत भरी खबर है यहां की एरा मेडिकल यूनिवर्सिटी ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर डेवलप किया है जिससे यह पता चल सकेगा कि व्यक्ति को किस स्तर की एंटीबायोटिक …

Read More »

रिसर्च : रोजाना 20 मिनट व्‍यायाम से 4 साल, 60 मिनट व्‍यायाम से 7 साल बढ़ गयी जिन्‍दगी

ऐस्प्रिन अब दिल के रोगों से बचाने में कारगर सिद्ध नहीं हो रही   लखनऊ। क्‍या आप जानते हैं कि दिल की बीमारी को होने से रोकने के लिए दी जाने वाली ऐस्प्रिन टेबलेट खाने का कोई लाभ नहीं है, अलबत्‍ता जिन्‍हें दिल की बीमारी हो चुकी है, वे अगर …

Read More »

80 फीसदी मरीजों के इलाज में जांच की जरूरत नहीं, जांच कराने से बढ़ रहा इलाज का खर्च

दिन पर दिन महंगे होते जा रहे इलाज पर जतायी गयी चिंता लखनऊ। भारत वर्ष में हेल्‍थ केयर महंगी होती जा रही है, क्‍योंकि नौजवान चिकित्‍सक क्‍लीनिकल डायग्‍नोसिस पर नहीं बल्कि जांचों की रिपोर्ट के आधार पर इलाज करते हैं, जबकि असलियत यह है कि 80 फीसदी मरीजों के इलाज …

Read More »