खोयी हुई नाक वापस मिलने से बढ़ गया नौशाद का आत्‍मविश्‍वास

बाइक एक्‍सीडेंट में खत्‍म हो गयी नाक को किया प्‍लास्टिक सर्जरी से तैयार

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो             

लखनऊ। सऊदी अरब में चालक की नौकरी करने वाले 21 वर्षीय नौशाद की नाक, जो एक दुर्घटना में रगड़ कर समाप्‍त हो गयी थी, उसे गत दिवस प्‍लास्टिक सर्जरी से ठीक करने में सफलता हासिल हुई है। एक वर्ष बाद नौशाद का आत्‍मविश्‍वास यह सोच कर बढ़ गया है कि उसने अपनी नाक जो दुर्घटना में खो दी थी, वह उसे अपने ही शरीर से फि‍र से वापस मिल गयी।

डॉ नीरज उपाध्‍याय

 

आलमबाग स्थित अजंता हॉस्पिटल में हुई इस सर्जरी को करने वाले अस्‍पताल के प्‍लास्टिक सर्जन डॉ नीरज उपाध्‍याय ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मूल रूप से उत्‍तर प्रदेश के अमेठी जिले के रहने वाले नौशाद का एक वर्ष पूर्व बाइक से गिरकर एक्‍सीडेंट हो गया था, इस एक्‍सीडेंट में उसकी नाक बुरी तरह रगड़ कर खत्‍म हो गयी थी, इसके बाद उसकी ड्रेसिंग हुई जो लम्‍बे समय तक चली। उन्‍होंने बताया कि नौशाद ने पिछले दिनों अजंता हॉस्पिटल में सम्‍पर्क किया तथा उन्‍हें अपनी नाक की चोट के बारे में बताते हुए इसे पूर्व की तरह करने की इच्‍छा जाहिर की। डॉ नीरज ने बताया कि इसके बाद इसकी सर्जरी प्‍लान की गयी। बीते रविवार को नौशाद की सर्जरी की गयी। उन्‍होंने बताया कि नाक बनाने के लिए माथे का मांस लिया गया है।

उन्‍होंने बताया कि पहले चरण में माथे से मांस लेकर इसकी नाक तैयार की गयी है, जो वर्तमान में सूंड़ की तरह दिखायी दे रही है, इसे अभी माथे से जोड़ा गया है, बाद में दूसरे चरण की एक और सर्जरी करके इस जोड़ को हटा दिया जायेगा, उस समय यह जोड़ वाला हिस्‍सा ओरिजनल की तरह प्‍लेन हो जायेगा।