राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद ने दिया लोहिया संस्‍थान में चल रहे आंदोलन को समर्थन

-आउटसोर्सिंग कर्मचारी 28 जनवरी से लगातार कर रहे हैं शांतिपूर्ण आंदोलन

-मुख्‍यमंत्री को भेजा पत्र, हस्‍तक्षेप कर पूर्व में निर्देशित वृद्धि को लागू करवाने की अपील

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उ प्र ने के डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ में कार्यरत आउटसोर्सिंग कर्मचारियों के आंदोलन को समर्थन देने की घोषणा की है। मुख्‍यमंत्री के निर्देर्शों के बावजूद शासन में वेतन वृद्धि की कार्यवाही लम्बित होने के विरोध में कर्मचारी 28 जनवरी से आंदोलनरत हैं।

राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद उत्‍तर प्रदेश के महामंत्री अतुल मिश्रा ने मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव को पत्र प्रेषित करते हुए अवगत कराया है कि डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ में कार्यरत आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की विगत कई वर्षों से मुख्यमंत्री के निर्देशों के उपरांत भी वेतन वृद्धि न होने के कारण ये कर्मचारी बीती 28 जनवरी से आंदोलनरत हैं।

श्री मिश्रा ने बताया कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी में चिकित्सा स्वास्थ्य,शिक्षा, व परिवार कल्याण विभाग के समस्त कर्मचारियों ने अपनी व परिवार की चिंता किए बगैर सरकार के साथ जान की बाजी लगाकर कोरोना पर विजय प्राप्त करने में अग्रणी व महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है, जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण है कि उत्तर प्रदेश का नाम पूरे देश में ही नहीं पूरे विश्व में हो रहा है।

9 अगस्त 2018 को शासन द्वारा लोहिया, केजीएमयू व पीजीआई में कार्यरत संविदा कर्मियों की वेतन बढ़ोतरी के संबंध में मुख्यमंत्री के निर्देश पर विशेष सचिव चिकित्सा शिक्षा जयंत निर्लरकर की अध्यक्षता में समिति का गठन किया था। समिति द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट व की गई संस्तुतियों को तीनों संस्थान ने गवर्निंग बॉडी द्वारा पास करा कर शासन को प्रेषित कर दिया। परंतु अत्यंत खेद का विषय है कि शासन व सरकार की कर्मचारियों के प्रति उपेक्षा पूर्णरवैया के कारण कर्मियों के वेतन वृद्धि आज तक नहीं हो पाई। जिसके कारण कर्मचारियों के आक्रोश को देखते हुए संघ को मजबूरन आंदोलन की घोषणा करनी पड़ी। विगत कई दिनों से कर्मचारी शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलनरत हैं परंतु स्थानीय प्रशासन व शासन द्वारा कोई रुचि नहीं ली गई, और न ही कोई वार्ता आहूत की गई।

उन्‍होंने कहा है कि डॉ आर एम एल आयुर्विज्ञान संस्थान संविदा कर्मचारी संघ परिषद का मजबूत स्तंभ व सम्बद्ध संगठन है। सरकार की वादाखिलाफी के कारण परिषद कर्मचारियों के इस आंदोलन को समर्थन करने की घोषणा करती है।

परिषद के अध्यक्ष सुरेश रावत व महामंत्री अतुल मिश्रा ने मुख्यमंत्री से अपील की है कि डॉ आर एम एल आयुर्विज्ञान संस्थान के अल्पवेतन भोगी संविदा कर्मचारियों की जायज मांगों के निस्तारण के लिए स्वयं हस्तक्षेप कर प्रभावी कार्यवाही करने के लिए निर्देशित करें जिससे अग्रिम बड़े आंदोलन पर रोक लगाई जा सके।