चार मेडिकल कॉलेजों पर बरसी शिर्डी के साईबाबा की कृपा, 70.50 करोड़ मिले

महाराष्ट्र सरकार के अंतर्गत आने वाले 4 मेडिकल कॉलेजों को उपकरण के लिए दिये

भक्तों पर कृपा बरसाने और उनका बेड़ा पार लगाने के लिए मशहूर शिर्डी के साई बाबा की कृपा अब चार मेडिकल कॉलेजों पर बरसेगी. शिर्डी साई बाबा मंदिर ट्रस्ट ने महाराष्ट्र सरकार के अंतर्गत आने वाले 4 मेडिकल कॉलेजों के आधुनिकीकरण के लिए 70.50 करोड़ रुपये का दान दिया है. इन मेडिकल कॉलेजों में जांच के लिए मशीनों की कमी है। यह दान दूसरे ट्रस्ट के लिए प्रेरणा बन सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शिर्डी साई बाबा मंदिर ट्रस्ट के चेयरमैन और भाजपा नेता सुरेश हवारे ने बताया कि मंदिर ट्रस्ट ने यवतमाल, चंद्रपुर, औरंगाबाद और नागपुर मेडिकल कॉलेजों की बेहतरी के लिए 70.50 करोड़ रुपये दान किए हैं, ताकि आर्थिक तंगी झेल रहे ये मेडिकल कॉलेज महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाकों में बेहतर चिकित्सा सेवायें मुहैया करा सके।

सुरेश हवारे ने बताया, हाल ही में मंदिर ट्रस्ट के लोगों ने मेडिकल कॉलेज डिपार्टमेंट के अधिकारियों के साथ एक मीटिंग की थी जिसके बाद इन 4 कॉलेजों को फंड देने का फैसला लिया गया. इस फंड का मकसद है कि इन कॉलेजों में बेहतर डायग्नोस्टिक केयर के लिए नए उपकरण खरीदे जा सकें.

यवतमाल मेडिकल कॉलेज को 13 करोड़ , इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज को करीब 35 करोड़, औरंगाबाद मेडिकल कॉलेज को 15 करोड़, और चंद्रपुर मेडिकल कॉलेज को लगभग 7.5 करोड़ रुपये दान किए गए हैं. दान में दिए गए पैसों से इन 4 कॉलेजों में एमआरआई मशीन, सीटी स्कैन मशीन, और डीएसए मशीनें खरीदने का प्रस्ताव रखा गया है।

आपको बता दें महाराष्ट्र या दूसरे राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में अक्सर अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों में कई मूलभूत सुविधाओं की कमी देखी गयी है जबकि कई अस्पताल और मेडिकल कॉलेज आधुनिक उपकरणों से वंचित हैं जिससे स्टूडेंट्स के साथ-साथ वहां इलाज के लिए आने वाले लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. ऐसे में शिरडी साई बाबा मंदिर ट्रस्ट द्वारा लिया गया ये फैसला दूसरे ट्रस्टों के लिए एक आदर्श बन सकता है.

देश में मौजूद कई दूसरे अमीर मंदिर ट्रस्टों में शिर्डी साई बाबा मंदिर ट्रस्ट सबसे आगे है. इस मंदिर ट्रस्ट के पास 2100 करोड़ की फिक्स डिपॉजिट हैं जबकि इसकी सालाना आमदनी 700 करोड़ रुपये के करीब है. एक अंदाज़े के मुताबिक हर दिन साईबाबा मंदिर ट्रस्ट को एक करोड़ रुपये दान में मिलता है।