वरिष्‍ठ कांग्रेसी नेता व पूर्व मंत्री नरेश चन्‍द्रा नहीं रहे

-लम्‍बी बीमारी के बाद संजय गांधी पीजीआई में निधन

नरेश चंद्रा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री नरेश चंद्रा का 13 फरवरी को निधन हो गया। वे संजय गांधी पीजीआई में भर्ती थे।

नरेश चंद्रा के निजी सचिव रामचंद्र ने यह जानकारी देते हुए बताया है कि नरेश चंद्रा लंबे समय से बीमार चल रहे थे तथा वर्तमान में यहां संजय गांधी पीजीआई में भर्ती होकर इलाज करा रहे थे।

ज्ञात हो श्री चंद्र ने अपना राजनीतिक सफर 1957 में सचिव संसदीय कार्य उत्तर प्रदेश कांग्रेस विधानमंडल से प्रारंभ किया था। बाद में वह  प्रदेश के सूचना नगर विकास मंत्री भी रहे। नरेश चंद्रा अनेक सामाजिक संस्थाओं से भी जुड़े रहे, इनमें मंगलम, डॉ राजेंद्र प्रसाद मेमोरियल सोसायटी, ओएस्‍का आदि शामिल हैं। वे लखनऊ विश्वविद्यालय व अवध विश्वविद्यालय के कार्यकारी सदस्य भी रहे।

श्री चंदा ने अपने मंत्रित्‍वकाल में अनेक सरकारी योजनाओं को प्रदेश में लागू करवाया, इनमें लखनऊ स्थित ऐशबाग का ओवरब्रिज भी शामिल है। नरेश चंद्रा अपने पीछे पत्नी डॉक्टर पुष्प लता चंद्रा तथा दो पुत्री डॉ नमिता चंद्रा तथा डॉ तूलिका चंद्रा, दामाद डॉ रवि अग्रवाल व डॉ राजीव अग्रवाल सहित भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं। नरेश चंद्रा के निधन की सूचना पाकर शोक संवेदनाओं का तांता लग गया है।