निदेशक से मांगों को लेकर वार्ता की संजय गांधी पीजीआई के कर्मचारियों ने

अपनी मांगों को लेकर निदेशक का घेराव किया पीजीआई कर्मचारी महासंघ ने

लखनऊ। संजय गांधी पीजीआई के कर्मचारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज अपनी लम्बित पड़ी मांगों को लेकर निदेशक से वार्ता की जिसमें निदेशक ने आश्‍वासन दिया कि उनके स्‍तर की जो मांगें हैं उन्‍हें वह शीघ्र पूरा कर देंगे।

 

यह जानकारी देते हुए कर्मचारी महासंघ की अध्‍यक्ष सावित्री सिंह ने बताया कि  कई मुद्दों को लेकर डायरेक्टर कैंप में डायरेक्टर का घेराव किया गया जिसमें मुख्य मुद्दा हमारा 1–2011 नियमावली में संशोधन,,2- केडर रिस्ट्रक्चरिंग एम्स के मुताबिक ,,क्योंकि हमें दिल्ली एम्स की समतुल्यता प्राप्त है3– सेवंथ पे कमिशन का भत्ता तुरंत लागू करवाना तथा चौथा मुद्दा4– संविदा पर तैनात कर्मचारियों का ड्रेस कोड डिसाइड करना बाकी तीन मुद्दे में तो हम लोगों को सिर्फ आश्वासन ही मिला है।

उन्‍होंने बताया कि चौथे मुद्दे पर डायरेक्टर ने कहा कि मैं खुद चाहता हूं कि संविदा कर्मचारियों का ड्रेस कोड डिसाइड हो जाए और 1 महीने के अंदर यह ड्रेस कोड लागू हो जाएगा तथा संविदा पर तैनात नरसिंह स्टाफ जिम वेंचर का लोगो लगा हुआ एप्रेन पहने अगर यह लोग नहीं लोगो लगा हुआ  एप्रेन नहीं पहनेंगी तो वार्ड इंचार्ज उनको ड्यूटी पर नहीं लेगा।

सावित्री सिंह ने बताया कि घेराव के दौरान सावित्री सिंह अध्यक्ष कर्मचारी महासंघ पीजीआई, कर्मचारी महासंघ पीजीआई के उपाध्यक्ष अमर सिंह ,एनएसए अध्यक्ष सीमा शुक्ला, महामंत्री सुजान, एसजीपीजीआई कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष सतीश मिश्रा, कर्मचारी महासंघ पीजीआई के संयोजक मदन मुरारी सिंह, राजकुमार कोषाध्यक्ष एनएसए तथा एनएसए के उपाध्यक्ष सुनीता आदि शामिल थे।