Monday , May 16 2022

राहत भरी खबर : कोरोना वायरस से बचते हुए किस तरह मनायें होली, केजीएमयू के विशेषज्ञ ने बताया

-रंगों और उल्‍लास से भरा त्‍यौहार होली अवश्‍य मनायें, डरें नहीं बस सावधानी बरतें
प्रो सूर्यकांत

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कोरोना वायरस की दहशत के बीच होली के त्‍यौहार मनाने को लेकर असमंजस की स्थिति वाले नागरिकों के लिए राहत भरी खबर है।  लखनऊ स्थित किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍व विद्यालय के पल्‍मोनरी विभाग के विभागाध्‍यक्ष और नेशनल कॉलेज ऑफ चेस्‍ट फि‍जीशियन ऑफ इंडिया व इंडियन कॉलेज ऑफ एलर्जी, अस्‍थमा एंड एप्‍लाइड इम्‍यूनोलॉजी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष प्रो सूर्यकांत ने कहा है कि होली रंगों-उमंगों का त्‍यौहार है, होली अवश्‍य मनाइये, लेकिन मनाते समय कुछ सावधानियां बरतें।

गीले रंगों से नहीं, सूखे गुलाल से खेलें होली

प्रो सूर्यकांत ने बताया कि गीले रंगों की होली न मनायें, सूखे हर्बल गुलाल से होली खेलें, क्‍योंकि कोरोना वायरस ठंडे और कम तापमान में ग्रो करता है तथा गर्मी और ज्‍यादा तापमान से डरता है। ऐसे में अगर आप गीले रंगों से होली खेलते हैं तो यह आपके शरीर के, गले का तापमान को कम करेगा, जो कि कोरोना वायरस होने की आशंका को कई गुना बढ़ा सकता है। कोरोना वायरस से डरे नहीं बस सतर्कता बनाये रखने के लए जिस व्‍यक्ति को बुखार आ रहा हो, जुकाम हो, छींके आ रही हों, उससे एक मीटर की दूरी बना कर रखें।

गरम पानी से भाप ले लें

उन्‍होंने बताया कि अगर गलती से भी कोरोना वायरस गले में आ ही गया है कि तो घर पहुंचकर गरमपानी उबाल कर भाप लेलें, इससे जितने वायरस आपके नाक-गले में चिपके होंगे वे सब मर जायेंगे, बाहर हो जायेंगे। चूंकि कोरोना वायरस छूने से होने का डर रहता है तो इस बार आलिंगन न करें, इस बार नमस्‍ते होली करें, वैसी भी नमस्‍ते करना भारतीय संस्‍कृति की परम्‍परा है।

देखें वीडियो

गले को गरम खानपान से गरम रखिये, कोल्‍ड ड्रिंक-आइसक्रीम से करें परहेज

उन्‍होंने कहा कि गले को गरम रखिये, चाय पीजिये, कॉफी पीजिये, सूप पीजिये, गरम तापमान वाली चीजें खाइये, ज्‍यादा से ज्‍यादा पानी पीजिये। एक बात का ध्‍यान रखें गले को ठंडा मत रखिये यानी कोल्‍ड ड्रिन्‍क न पीयें, आइसक्रीम न खाइये। उन्‍होंने एक और खास बात यह कही कि मास्‍क के लिए भी हौव्‍वा मत रखिये, मास्‍क लगाना सबके लिए जरूरी नहीं है, फि‍र भी अगर आप अगर भीड़ वाले इलाके में जा रहे हैं तो रूमाल लगा लीजिये, गमछे की चार परत बनाकर नाक, मुंह ढंक लीजिये, लड़कियां अपने दुपट्टे की चार परत बनाकर मास्‍क बना कर लपेट लें, ये तरकीब किसी भी तीन लेअर वाले मास्‍क से बेहतर हैं, और अगर यह नहीं लगा पाये, भूल गये तो घर पर वापस आकर भाप ले लीजिये।