Thursday , July 28 2022

दरिंदगी का शिकार हुई बच्‍ची अब स्‍वस्‍थ, मिली अस्‍पताल से छुट्टी

15 दिनों पहले किया गया था 5 वर्षीय मासूम से रेप

लखनऊ। लखनऊ के काकोरी में 10 अप्रैल को रेप का शिकार हुई 5 वर्षीय मासूम बच्ची को 25 अप्रैल को पूर्णतया स्वस्थ्य हो जाने पर डिस्चार्ज कर दिया गया। यह जानकारी आज पीडियाट्रिक सर्जरी के विभागाध्यक्ष डॉ एसएन कुरील ने देते हुए बताया कि दरिंदगी का शिकार हुई बच्ची को उनके पास 11 अप्रैल को काफी गंभीर हालत में लाया गया था। इससे पहले एक निजी अस्पताल और बलरामपुर के डफरिन अस्पताल से रेफर कर किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग लाया गया, जहां विभागाध्यक्ष डॉ एसएन कुरील ने बच्ची का इलाज प्रारम्भ किया। उस वक्त बच्ची शॉक में थी और उसके जन्नांग और मलद्वार की मांसपेशियां फटी हुई थीं तथा उसमें से रक्तस्राव जारी था।

 

पीडियाट्रिक सर्जरी के विभागाध्यक्ष डॉ एसएन कुरील ने बताया कि ऐसी गंभीर स्थिति‍ में सामान्यतः 3 ऑपरेशन की आवश्यकता होती है लेकिन इस मामले मे उचित समय पर बच्ची को चिकित्सीय सुविधा मिलने एवं विशेषज्ञता की वजह से मात्र 1 ऑपरेशन से बच्ची को स्वाय्‍थ्‍य लाभ मिल गया और बच्ची अब पूर्णतया स्वस्थ है और सामान्य जीवन जीने में सक्षम है तथा वार्ड राउण्ड के समय चिकित्सकों से चॉकलेट की मांग करती है।

 

उन्होंने बताया कि बच्ची का पूरा उपचार निशुल्क किया गया है तथा इस सफल ऑपरेशन में डॉ एसएन कुरील ने एनेस्थीसिया विभाग के डॉ जीपी सिंह को विशेष रूप से धन्यवाद दिया, जिन्होंने ऑपरेशन के लिए उचित समय पर एनेस्थीसिया उपलब्ध कराने में विशेष सहयोग दिया।

 

इस अवसर पर बच्‍ची और उसके परिजनों ने चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट से भेंट कर उचित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। कुलपति एवं पीडियाट्रिक सर्जरी के विभागाध्यक्ष डॉ एसएन कुरील ने बच्ची को चॉकलेट भेंट में देते हुए उसके सुखमय भविष्य की कामना की।