कोरोना वायरस को लेकर तैयारी पुख्‍ता, केजीएमयू में 40 वेंटीलेटरयुक्‍त बेड तैयार

-वेंटिलेटर एवं आईसीयू की आवश्यकताओं के लिए कमेटी का गठन
-दूसरे संस्‍थानों के कर्मियों को भी वेंटीलेटर प्रशिक्षण देगा केजीएमयू

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए व्यवस्थाओं को और पुख्ता करते हुए वेंटिलेटर एवं आईसीयू की आवश्यकताओं के लिए आईसीयू एवं वेंटीलेटरी कमेटी का गठन किया है। मौजूदा समय में यहां 40 वेंटीलेटर युक्त आईसीयू के बेड तैयार हैं।

इस बारे में रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर सूर्यकांत ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों में लगभग 5% ऐसे रोगी हो सकते हैं जो कि गंभीर मरीजों की श्रेणी में आते हैं और उन्हें आईसीयू वेंटीलेटर की जरूरत हो सकती है। ऐसे रोगियों के लिए केजीएमयू में फिलहाल 40 बेड की तैयारी पूरी कर ली है और इसके लिए ट्रेनिंग मॉड्यूल बना लिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस संबंध में चिकित्सक रेजिडेंट एवं पैरामेडिकल स्टाफ को इसके संचालन के लिए प्रशिक्षण एवं हैंड्स ऑन प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।

वेंटीलेटर के बारे में जानकारी देते हुए क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग के डॉ अविनाश अग्रवाल ने बताया कि वेंटीलेटर एक ऐसी मशीन है जो ऐसे मरीजों के उपचार में काम आती है जिन्हें सांस लेने में परेशानी हो रही हो या वह प्राकृतिक रूप से सांस नहीं ले पा रहा हो। उन्होंने बताया कि यदि किसी बीमारी के कारण फेफड़े अपना काम नहीं कर पाते हैं तो वेंटिलेटर सांस लेने की प्रक्रिया में सहयोग करते हैं।

इस संबंध में कुलपति प्रोफ़ेसर एलएलबी भट्ट ने यह भी निर्देश दिया कि राज्य के अन्य चिकित्सा संस्थानों में भी कोरोनावायरस के संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए वेंटिलेटर यूनिट एवं आईसीयू स्थापित किए जाते हैं तो केजीएमयू द्वारा उनके चिकित्सकों, रेजिडेंट एवं पैरामेडिकल स्टाफ को समुचित प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। केजीएमयू में सभी वेंटिलेटर का सुचारु रूप से संचालन करने के लिए अश्विनी कुमार पांडे को इस कमेटी में तकनीकी विशेषज्ञ के रूप में नियुक्त किया गया है। इसके अलावा इस कमेटी के अन्य सदस्यों में पल्‍मोनरी विभाग के डॉ सूर्यकांत, डॉ अजय कुमार वर्मा, क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग के डॉ अविनाश अग्रवाल, सोहेल सिद्दीकी, पलमोनरी एवं क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग के डॉ वेद प्रकाश एवं एनेस्थीसिया विभाग के डॉ रवि प्रकाश एवं डॉ विपिन कुमार को नियुक्त किया गया है।