Saturday , December 4 2021

सकारात्‍मक पहल : भर्ती कोविड मरीजों के लिए यादगार बन गया रक्षाबंधन

-लोकबंधु संयुक्‍त चिकित्‍सालय में भर्ती मरीजों को दी गयीं खुशियां

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। पॉजिटिविटी यानी सकारात्‍मकता के लिए कहीं दूर जाने की जरूरत नहीं है, यह व्‍यक्ति के अंदर ही होती है, माहौल कोई भी हो, काल कोई भी हो, सकारात्‍मक दृष्टिकोण अपनाना ही आत्‍मबल को बढ़ाता है। कुछ ऐसा ही करने का प्रयास किया गया यहां के लोकबंधु संयुक्‍त चिकित्‍सालय में, जो कि आजकल कोविड अस्‍पताल के रूप में चल रहा है। यहां रक्षाबंधन का पर्व मरीजों ने आपस में पूरे मनोयोग से मनाया।

मिली जानकारी के अनुसार निदेशक डॉ मधु सक्‍सेना व मुख्‍य चिकित्‍सा अधीक्षक डॉ अमिता यादव के नेतृत्‍व में अस्‍पताल कर्मियों ने अस्‍पताल में भर्ती कोविड मरीजों के लिए रक्षाबंधन त्‍यौहार मनाने की पहल की। स्‍वाभाविक रूप से रोग को लेकर परेशान मरीजों के लिए यह पहल एक नयी ऊर्जा लेकर आयी।

भर्ती बेटियों ने भर्ती पुरुष मरीजों की कलाई में न केवल राखी बांधी, बल्कि कोरोना को मात देकर शीघ्र स्वस्थ होने की एक-दूसरे को शुभकामनायें और आशीर्वाद भी दिया। इसके अलावा यहां के महिला वार्ड में भर्ती कोविड पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं ने भी रक्षाबंधन बड़े उत्‍साह के साथ मनाया। उन्‍होंने एक-दूसरे के राखी बांधकर रक्षा के साथ सुरक्षा करने की भावना बांटी। बताया जाता है कि अस्‍पताल की इस पहल का मरीजों ने बहुत स्‍वागत किया, उनका कहना था कि इस पहल से हमें अपने घर की याद तो आयी लेकिन एक तरफ इन नये भाई-बहनों को पाकर इस मौके पर इस त्‍योहार को मनाने की खुशी जो अस्‍पताल प्रशासन ने हमें दी, इसके लिए हम बहुत शुक्रगुजार हैं। इस तरह एक छोटी मगर समय पर की गयी सटीक पहल से वास्तव में अस्पताल और मरीजों के लिए, वर्ष 2020 का रक्षा बंधन यादगार और अकल्पनीय हो गया।