हमारे बुजुर्गों ने पेड़ लगाये तो हमें छाया मिली, हम भी लगाएं तो हमारे बच्चों को छांव मिलेगी

विश्व पर्यावरण दिवस पर आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी ने लगाये पौधे, दिया सन्देश

 

हमारे माता-पिता, बाबा, नाना ने पेड़ लगाये थे तो आज हम इस भीषण गर्मी में पेड़ के नीचे आराम से बैठे हैं। हमें भी चाहिए कि पेड़ लगायें जिससे हमारे बच्चे और आने वाली पीढ़ी वृक्ष की छांव में बैठ सके।

यह बात पर्यावरण दिवस पर आयुष विभाग के वरिष्ठ चिकित्साधिकारी डॉ देवेश कुमार श्रीवास्तव राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय, कुंडासर, कैसरगंज ने लोगों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने समस्त स्टाफ व क्षेत्र गणमान्य नागरिकों के साथ नीम,जामुन, कांचनार आदि का पौधा अपनी तरफ से खरीद कर अपनी बेटियों व पत्नी के नाम पौधा रोपड़कर विश्व पर्यावरण दिवस पर सभी को पर्यावरण के संरक्षण का संदेश दिया।

उन्होंने कहा कि हम लोगों का भी फ़र्ज़ है कि अपने बच्चों को भी छाँव देने के लिये हर साल जून-जुलाई से औषधीय व फलदार छायादार पेड़ पौधें लगाएं,सभी लोगों को पेड़-पौधों की उपयोगिता बताई की उसका प्रयोग कर कैसे हर व्यक्ति बड़े से बड़ा रोग केवल इनके पंचांग (फसल, फूल,पत्ती,तना, जड़)का प्रयोग पूर्ण रूप से स्वस्थ बना रह सकता है चाहे वह रोग हृदय, गुर्दा, लिवर, स्त्री रोग, पुरुष रोग, बच्चों के रोग कोई हो। डाक्टर श्रीवास्तव ने यह मिशन बनाया कि वह बहराइच की सभी सड़कों के किनारे व गांव में पेड़ लगवाएंगे और लोगों को प्रेरित करेंगे। इस अभियान में हर गांव के ग्रामीणों के लिए निःशुल्क चिकित्सा शिविर लगाकर वृक्ष दान करेंगे।