Saturday , August 20 2022

सरकारी नौकरियों में एक चयन प्रक्रिया, स्‍वागतयोग्‍य निर्णय

-राष्‍ट्रीय वेतन आयोग का गठन करके एक वेतन, भत्‍ते का फॉर्मूला भी लागू करें

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। सरकारी नौकरियों में राष्ट्रीय स्तर पर एक चयन प्रक्रिया के निर्णय का इंडियन पब्लिक सर्विस एम्पलाइज फेडरेशन (इप्‍सेफ) ने स्वागत किया है। इप्‍सेफ ने कहा है कि हमारी पहले से ही मांग है कि राष्ट्रीय वेतन आयोग का गठन करके एक देश एक वेतन, भत्ते व सुविधाओं की भी व्‍यवस्‍था होनी चाहिये।

राष्ट्रीय अध्यक्ष वी पी मिश्र, मुख्य सलाहकार दीपक ढोलकिया एवं महामंत्री प्रेमचंद ने केंद्रीय कैबिनेट के इस फैसले को स्वागत योग्य बताते हुए कहा है कि 14 अगस्त को अधिकार दिवस के अवसर पर इप्सेफ ने प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेज कर मांग की थी कि एक देश एक वेतन, भत्ते एवं अन्य सुविधाएं देने के लिए राष्ट्रीय वेतन आयोग का गठन किया जाए।

श्री मिश्र ने कहा कि जब राष्ट्रीय एजेंसी द्वारा नौकरी की प्रक्रिया की जाएगी और उसी लिस्ट से देशभर में पदवार नियुक्तियां की जाएंगी तब वेतन, भत्ते एवं अन्य सुविधाएं एक समान की जायें, जिससे एकरूपता रहे।

प्रेमचंद ने कहा कि इस चयन प्रक्रिया में आंगनबाड़ी, सहायिका कांट्रेक्चुअल जैसे कर्मचारियों को भी वरिष्ठता के आधार पर चयन प्रक्रिया में शामिल किया जाए तथा देश भर में रिक्त पदों पर एक माह में नियुक्तियां कर दी जाएं। राज्यों के कर्मचारियों का भी चयन इसी एजेंसी की लिस्ट से किया जाए।

वी पी मिश्र ने कहा कि प्रधानमंत्री का यह कदम सराहनीय है। इसी तरह देशभर के नियुक्तियों में एक वेतन एक भत्ते एवं अन्य सुविधाएं अनुमन्य की जाएं। इससे एक देश एक वेतन एक भत्ते एक सुविधाएं की मांग साकार होगी। इसके लिए राष्ट्रीय वेतन आयोग का गठन भी किया जाए।

राष्‍ट्रीय सचिव अतुल मिश्रा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तर प्रदेश में भी इसे लागू करने का स्वागत करते हुए कहा है कि मुख्‍यमंत्री से अनुरोध है कि एक देश एक वेतन भत्ते एवं अन्य सुविधाएं अनुमन्य करने के लिए राष्ट्रीय वेतन आयोग का गठन के लिए प्रधानमंत्री को अपनी संस्तुति करें।