मच्छरजनित स्थितियों के लिए बलरामपुर सहित आठ अस्पतालों को नोटिस

खाने-पीने की दुकानों की वजह से भी फैल रही गंदगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश पर एंटीलार्वा रोधी अभियान के तहत रविवार को मलेरिया विभाग की टीम ने बलरामपुर अस्पताल , डफरिन समेत सभी सरकारी अस्पतालों समेत 27 जगहों का निरीक्षण किया गया। जिनमें से आठ अस्पतालो को मच्छर जनित स्थितियां मिलने पर नोटिस थमाई गई। नोटिस के तहत उन्हें 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है कि भौतिक व रासायनिक संसाधनों का उपयोग कर मच्छरों के पैदा होने की संभावनाओं को समाप्त करेें, अन्यथा जुर्माना लगाया जायेगा।
अभियान के तहत रविवार को टीम ने डफरिन अस्पताल, झलकारी बाई महिला अस्पताल, लोहिया अस्पताल, सिविल अस्पताल, लोकबन्धु राजनारायण संयुक्त चिकित्सालय, भाऊराव देवरस चिकित्सालय, अर्बन सीएचसी चन्दरनगर, रानी लक्ष्मी बाई संयुक्त चिकित्सालय, बीएमसी एेशबाग, सिल्वर जुबली, रेडक्रॉस व अलीगंज, बीएमसी इंदिरा नगर एवं टीबी अस्पताल ठाकुरगंज आदि में निरीक्षण किया, कुल 27 स्थानों पर मच्छर जनित स्थितियों का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान आठ अस्पतालों में मच्छरों के पैदा होने की स्थितियां मिलीं, जिसे अस्पताल की लापरवाही मानते हुए अस्पताल प्रशासन को सीएमओ द्वारा नोटिस दी गई। नोटिस पाने वालों में शहर का सबसे बड़ा बलरामपुर अस्पताल, भाऊराव देवरस संयुक्त चिकित्सालय, रानी लक्ष्मीबाई संयुक्त चिकित्सालय, लोकबन्धु अस्पताल, अर्बन सीएचसी चन्दरनगर, सीएचसी रेडक्रॉस, ठाकुरगंज टीबी अस्पताल एवं राज्य स्वास्थ्य शिक्षा व्यूरो आदि प्रमुख हैं।