व्‍यक्तित्‍व विकास का सर्वोत्‍तम माध्‍यम है राष्‍ट्रीय सेवा योजना

-महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में राष्‍ट्रीय सेवा योजना की दोनों इकाइयों का विशेष शिविर प्रारम्‍भ

लखनऊ। महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ  के राष्ट्रीय सेवा योजना की दोनों इकाई का संयुक्त विशेष शिविर का भव्य  शुभारम्भ विश्वविद्यालय के कुलाधिपति अजय प्रकाश श्रीवास्तव द्वारा हुआ। विशेष शिविर के उद्घाटन सत्र में विश्विद्यालय के कुलपति प्रोफेसर भानु प्रताप सिंह कुलाधिपति अजय प्रकाश श्रीवास्तव को अंग वस्त्र भेंट कर शिविर में स्वागत और अभिनन्दन किया,विश्‍वविद्यालय के कुलसचिव प्रोफेसर अखंड प्रताप सिंह ने शिविर के उद्देश्‍यों के विषय में विस्तृत से चर्चा की। विश्वविद्यालय के कुलाधिपति अजय प्रकाश श्रीवास्तव ने स्वयंसेवको को संबोधित करते हुए कहा कि‍ राष्ट्रीय सेवा योजना व्‍यक्तित्‍व विकास का सर्वोत्तम माध्यम है, इसमें विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थियों को बढ़-चढ़कर सहभागिता करनी चाहिए।

उन्‍होंने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना, भारत सरकार के युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय का बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है। संस्‍थान के कार्यक्रम अधिकारी, राष्ट्रीय सेवा योजना सपन अस्थाना ने विशेष शिविर के विषय में जानकारी देते हुये बताया कि‍ यह  शिविर आज 20 मार्च से 26 मार्च तक ग्राम पंचायत अल्लूनगर डिगुरिया में आयोजित होगा और विशेष शिविर में 100 स्वयंसेवक भाग ले रहे हैं । शिविर में शिक्षा, पोषण, पर्यावरण संवृद्धि और संरक्षण, स्वास्‍थ्‍य, परिवार कल्याण जनजागरूकता कार्यक्रम सहित विविध सामाजिक विषयों पर स्वयंसेवकों द्वारा विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।

शिविर के प्रथम दिवस स्वयंसेवकों ने ग्रामीणों से संपर्क कर ग्रामीण अंचल की चुनौतियों को जानने का  प्रयास किया। बौद्धिक सत्र में स्वयंसेवकों को राष्ट्रीय सेवा योजना से सम्बन्धित और गौरैया दिवस पर पक्षियों के संरक्षण के सन्दर्भ में जानकारी दी गयी। कार्यक्रम अधिकारी अंकित श्रीवास्तव ने विशेष शिविर में स्वयंसेवकों को शिविर से सम्बन्धित दिशा निर्देश दिया और  कहा की अनुशासन ही श्रेष्ठ शिविर का मूलमंत्र है। उद्घाटन सत्र में विश्वविद्यालय के उपकुलसचिव गिरीश छिमवाल, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी राजेश दुबे, रश्मि राकेश सहित अन्‍य लोग भी उपस्थित रहे।