छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों के शल्‍य चिकित्‍सकों तक को स्किल्‍ड सर्जरी की शिक्षा देना होगा मेरा लक्ष्‍य

-एसोसिएशन ऑफ सर्जन्‍स ऑफ इंडिया के यूपी चैप्टर का अध्यक्ष चुने गये डॉ विनोद जैन ने गिनायीं अपनी प्राथमिकताएं

डॉ विनोद जैन, अध्यक्ष, एसोसिएशन ऑफ सर्जन्‍स ऑफ इंडिया यूपी चैप्टर

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के सर्जरी विभाग के प्रोफेसर डॉ विनोद जैन एसोसिएशन ऑफ सर्जन्‍स ऑफ इंडिया के यूपी चैप्टर के नये अध्यक्ष चुने गये हैं। उन्‍हें यूपीएएसआईकॉन-2020 में कल शनिवार को हुई जनरल बॉडी की मीटिंग में अध्यक्ष चुना गया। डॉ जैन ने अपने अध्यक्ष चुने जाने पर एसोसिएशन के लोगों का आभार प्रकट करते हुए अपनी प्राथमिकताएं गिनाईं।

डॉ जैन ने कहा कि मेरी कोशिश होगी कि सर्जरी की जानकारी और कौशल यूपी के ज्यादा से ज्यादा सर्जन्‍स विशेषकर छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले शल्‍य चिकित्‍सकों तक पहुंच सके, जिससे वे अपनी सेवाओं से बड़ी संख्‍या में लोगों का इलाज कर सकें।

डॉ जैन ने कहा कि अनुभवी शल्य चिकित्सकों के द्वारा नए शल्य चिकित्सकों को नियमित रूप से सतत शल्य चिकित्सा कार्यक्रम के माध्यम से जानकारी दिया जाना मेरी प्राथमिकताओं में है, इसके साथ ही एक प्राथमिकता यह होगी कि शल्य चिकित्सकों को संक्रमण से बचाव, हाथों की स्वच्छता, स्वस्थ जीवन शैली, इंजरी होने से बचाव, कैंसर से बचाव व उसकी जल्द पहचान जैसी शिक्षा समाज के लोगों को देने के लिए प्रोत्साहित करें।

उन्‍होंने कहा कि इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य देखभाल में लगे कर्मियों के लिए सॉफ्ट स्किल ट्रेनिंग प्रोग्राम को विकसित करना तथा उन्हें लागू करने पर जोर दिया जाएगा, इसके साथ ही पूरे उत्तर प्रदेश में चिꢟकित्‍सा से जुड़े कर्मियों में नैतिकता के साथ सच्‍ची चिकित्‍सा सेवा को बढ़ावा देना, ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिक्षा और सर्जरी के कैम्‍प लगाने का यथासंभव आयोजन करना है। उन्‍होंने कहा कि शल्य चिकित्सकों के बीच अच्छे तालमेल का विकास करने के साथ ही शल्‍य चिकित्‍सकों में टीम भावना के साथ यह सोच कि ‘हम इसे कर सकते हैं’ की भावना से दृढ़ प्रतिज्ञ होकर किसी कार्य को करने को प्रोत्‍साहित करने की कोशिश करूंगा। उन्‍होंने कहा कि इसके अतिरिक्‍त हमारी कोशिश होगी कि सरकार के स्वास्थ्य कार्यक्रमों में जरूरत पड़ने पर सहयोग कर सकें।