नुक्‍कड़ नाटक से अभिभावकों को दिया बच्‍चों को स्‍कूल भेजने का संदेश

महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के एनएसएस शिविर का पांचवां दिन

लखनऊ। महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ के राष्ट्रीय सेवा योजना के शिविर के पांचवें दिन स्वयंसेवकों ने ग्राम डिगुरिया में शिक्षा के प्रति ग्रामीणों को जागरूक करने के लिए नुक्कड़ नाटक किया। नुक्कड़ नाटक द्वारा स्वयंसेवकों ने ग्रामीणों को यह शिक्षा दी कि छोटे बच्चों को स्कूल जरूर भेंजे, बच्चों की पढ़ाई पूरी करायें, उन्हें बीच में पढ़ाई से वंचित न करें, सरकार शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए आपके लिए बहुत कुछ कर रही है।

 

यह जानकारी देते हुए कार्यक्रम अधिकारी सपन अस्‍थाना ने बताया कि नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति ने ग्रामीणों के मन को मोह लिया, ग्रामीणों ने स्वयंसेवको की प्रशंसा की। नुक्कड़ नाटक की टीम में रितिक, अलंकृता, अनुष्का, अनुराग, विदुषी, फतेहब, राजीव, मंजू, आशीष, हर्ष, अभिषेक, संदीप, अनुश्री एवं निशा थे। इस अवसर पर सपन अस्थाना, कार्यक्रम अधिकारी, राष्ट्रीय सेवा योजना, महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति की जिम्मेदारी है कि वह पाँच साल के ऊपर के बच्चों को अपने निकट के प्राथमिक विद्यालय में जरूर भेंजे।

 

जीवन में सफलताप्राप्त करने के लिए शिक्षा सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा के महत्व को बढ़ावा देने के लिए सरकार बहुत से जागरूकता अभियान चला रही है ।  यह समाज में सभी व्यक्तियों में समानता की भावना लाती है और विकास को भी बढ़ावा देती है। शिक्षा जीवन जीने की राह देती है एवं स्वच्छता, अच्छा स्वास्थ्य एवं कुछ अच्छी शिक्षा पर ही आधारित है। ब्यूटी खत्री ने स्वयंसेवको एवं ने ग्रामीणों का आभार व्यक्त किया ।