भ्रामरी प्राणायाम व ओम के उच्चारण से बढ़ती है याद करने की शक्ति

स्‍कूली बालिकाओं को परीक्षा में सफलता के लिए स्‍वस्‍थ रहने के गुर बताये गये 

लखनऊ। नववर्ष शुभारम्भ में नोडल अधिकारी बहराइच आयुष विभाग के वरिष्ठ चिकित्साधिकारी डॉ देवेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा बुधवार को राजकीय बालिका इंटर कॉलेज, कैसरगंज में सैकड़ो की संख्या में उपस्थित बालिकाओं को प्रेरणादायक स्पीच से स्‍वस्‍थ रहने के गुर बताये गये।   डॉ देवेश के अनुसार प्रधानाध्यापक के विशेष आमंत्रण पर वह स्‍कूल गये थे। उन्‍होंने अपनी स्‍पीच में बताया कि आने वाली बोर्ड की परीक्षा में कैसे धनात्मक सोच व पढ़ने के सरल तरीके अपना कर परीक्षा की तैयारी कर अच्छे नम्बर प्राप्त कर सफल हुआ जा सकता है। उन्‍होंने बताया कि योग प्राणायाम भ्रामरी व ओम का उच्चारण करने से मेमोरी पावर बढ़ती है।

 

डॉक्टर देवेश श्रीवास्तव

इसके अतिरिक्‍त आंखों को स्वस्थ बनाये रखने के लिए फिटकरी के पानी से आंख धोएं, प्रातः खाली पेट 3-4 गिलास पानी पीने की आदत डालें व एक बूँद शहद आंखों में लगाएं, नाक में 3-4 बूँद सरसों का तेल सिर उपर उठाकर डालें। इसके  अलावा 100 तक गिनती गिनने के बाद नमक के पानी से गरारा करें, दांतों को स्वस्थ मजबूत और सफेद रखने के लिए आधा चम्मच सरसों का तेल, 3 चुटकी हल्दी, 2 चुटकी नमक का मिश्रण मसूढ़े व दांत में लगा कर 10 मिनट के बाद थूक दें, इसी प्रकार खाने में हरी सब्जियों व फलों का अधिक सेवन करें, खाना 32 बार चबा कर खाएं।

 

डॉ देवेश ने अपनी स्‍पीच में यह भी बताया कि गांव में “न गन्दगी करेंगे न गन्दगी करने देंगे” और अगर खुले में जाना पड़े तो शौच को मिट्टी से ढकेंगे नहीं तो कीड़े-मकोड़े पैदा होकर हमको बीमार करेंगे। उन्‍होंने बताया कि अंत में पर्यावरण बचाने के लिए सभी लोगों को दो-दो औषधीय व छायादार पौधे लगाने के लिए प्रेरित किया गया।