केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में मरीजों को न हो दिक्‍कत, इसके लिए किये गये बड़े प्रशासनिक बदलाव

-सीएमएस डॉ संदीप तिवारी के नेतृत्‍व वाली टीम में बदलाव, डॉ सिद्धार्थ कुंवर को बनाया गया चिकित्‍सा अधीक्षक

से‍हत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के ट्रॉमा सेंटर की चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए केजीएमयू प्रशासन ने यहां के प्रशासनिक ढांचे में परिवर्तन किए हैं। माना जा रहा है कि ये बदलाव यहां आये दिन हो रही मरीजों की दिक्‍कतों को दूर करने के लिए किये गये हैं। आपको बता दें कि कोविड काल के बाद से ट्रॉमा सेंटर आने वाले मरीजों को पहले होल्डिंग एरिया में रख कर उनके कोविड संक्रमण के बारे में जांच की जाती है, इसके बाद जांच रिपोर्ट आने के बाद ही उसके आगे के इलाज को लेकर दिशा तय की जाती है। इसके लिए यहां दो होल्डिंग एरिया बनाये गये हैं।

कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ बिपिन पुरी की ओर से 15 दिसंबर को जारी आदेशों के अनुसार ट्रॉमा सेंटर में पूर्व में नियुक्त मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ संदीप तिवारी के नेतृत्व वाली टीम में बदलाव किये गये हैं। इस आदेश के अनुसार अब बाल रोग विभाग के डॉ सिद्धार्थ कुंवर को ट्रॉमा सेंटर का चिकित्सा अधीक्षक बनाया गया है। इसके अतिरिक्त यहां स्थित अलग-अलग विभागों की इकाइयों के प्रभारियों की घोषणा भी की गई है।

यहां बनाये गये दो होल्डिंग एरिया में एक होल्डिंग एरिया का इंचार्ज एनस्थीसियोलॉजी के डॉ प्रेम राज व डॉ तन्मय तिवारी को तथा दूसरे होल्डिंग एरिया का इंचार्ज ट्रॉमा सर्जरी विभाग के डॉ नरेंद्र कुमार तथा ओरल एंड मैक्सोफेशियल सर्जरी विभाग के डॉ अमित अग्रवाल को बनाया गया है।

इसके अतिरिक्त इमरजेंसी मेडिसिन विभाग का प्रभारी डॉ हैदर अब्बास को, ट्रॉमा सर्जरी की प्रभारी डॉ अनीता सिंह को, जनरल सर्जरी के प्रभारी डॉ मनीष अग्रवाल, ऑर्थोपेडिक्स के प्रभारी डॉ देवेश अग्रवाल, न्यूरो सर्जरी के प्रभारी डॉ अंकुर बजाज, इंटरनल मेडिसिन का प्रभारी डॉ अजय चौधरी, बाल रोग का प्रभारी डॉ निशांत वर्मा, टीवीयू का प्रभारी डॉ विपिन कुमार सिंह, न्यूरोलॉजी की प्रभारी डॉ श्वेता पांडे तथा क्रिटिकल केयर मेडिसिन का प्रभारी डॉ सैयद नबील मुजफ्फर को बनाया गया है।