Thursday , June 30 2022

लोहिया संस्‍थान में कैंसर को अब शुरुआती स्‍टेज में पकड़ना संभव

पेट, किडनी सहित कई अंगों के कैंसर को प्राथमिक स्‍तर पर पकड़ लेगा रेडियोडायग्‍नोसिस विभाग

डॉ गौरव राज ने कनाडा के प्रतिष्ठित विवि से प्राप्‍त की फेलोशिप

लखनऊ। डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के रेडियोडायग्नोसिस विभाग में अब कई प्रकार के कैंसर को प्राथमिक अवस्था में ही पकड़ने की सुविधा शुरू हो रही है।

 

यह जानकारी देते हुए संस्थान के मीडिया प्रवक्ता डॉ विक्रम सिंह ने बताया कि रेडियोडायग्नोसिस विभाग के प्रोफेसर गौरव राज ने कनाडा के उच्च स्तरीय संस्थान ओटावा मेडिकल यूनिवर्सिटी से प्रतिष्ठित फैलोशिप प्राप्त की है। डॉ गौरव राज को यह फेलोशिप उनके द्वारा 1 वर्ष तक अल्ट्रासाउंड, सीटी और एमआरआई द्वारा एडवांस इमेजिंग ऑफ एब्डोमिन पेलविस विद इमेज गाइडेड इंटरवेंशन की नवीनतम तकनीकि‍यों का बारीकी से अध्ययन किया।

 

उन्‍होंने बताया कि इस नवीनतम अध्ययन के परिणाम स्वरूप अब लिवर गॉलब्लैडर, पैंक्रियाज, किडनी, प्रोस्टेट, पेट, रेक्टम, यूट्रेस, छोटी और बड़ी आंत के कैंसर को प्राथमिक अवस्था में ही पकड़ा जा सकेगा। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही रेडियोलॉजी विभाग इसके लिए एक स्क्रीनिंग प्रोग्राम आरंभ करेगा। उन्होंने कहा कि अभी तक संस्थान के तीन विभाग मुख्यतः मेडिकल ऑन्कोलॉजी सर्जिकल ऑन्कोलॉजी और रेडिएशन ऑन्कोलॉजी विभाग कैंसर के मरीजों को इलाज में मदद करते थे, लेकिन अब चौथा विभाग रेडियोलॉजी विभाग भी कैंसर के मरीजों के इलाज में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।