Thursday , June 30 2022

एपेडेमिक एक्‍ट के तहत गायिका कनिका कपूर के खिलाफ देर रात मुकदमा दर्ज

-एयरपोर्ट पर जांच के बाद दिये गये थे होम क्‍वारेन्‍टाइन के निर्देश
-मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी की तहरीर पर सरोजनी नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज 

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कोरोना वायरस के लक्षण पाये जाने पर क्‍वारेन्‍टाइन रहने के निर्देश दिये जाने के बाद भी उसका पालन न करते हुए सामाजिक कार्यों में भाग लेने के आरोप में गायिका कनिका कपूर के खिलाफ एपेडेमिक एक्‍ट के अंतर्गत मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है। आपको बता दें कनिका की रिपोर्ट में कोरोना वायरस होने की पुष्टि की गयी है। कनिका इस समय संजय गांधी पीजीआई में भर्ती है।

यहां के सरोजनी नगर थाने में 20 मार्च को देर रात 11 बजकर 22 मिनट पर दर्ज की गयी एफआईआर में कनिका कपूर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269 व 270 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। कनिका के खिलाफ दी गयी तहरीर के अनुसार कहा गया है कि बीती 14 मार्च को कनिका कपूर जब लखनऊ स्थित एयरपोर्ट पर आयी थीं तो इनमें कोरोना के लक्षण धनात्‍मक पाये जाने पर होम क्‍वारेन्‍टाइन में रहने के निर्देश दिये गये थे लेकिन कनिका ने नियमों का उल्‍लंघन करते हुए सामाजिक कार्यों में भाग लिया।

आपको बता दें कि कनिका कपूर लखनऊ स्थित होटल ताज में ठहरी थी तथा यहां महानगर स्थित अपार्टमेंट में अपने घर भी गयी थी। ताज होटल को बंद करने के आदेश दे दिये गये हैं। कनिका इसके अलावा कानपुर में अपने रिश्‍तेदार के यहां भी गृह प्रवेश में हिस्‍सा लेने गयी थी। यह भी पता चला है कि कनिका की पार्टी में उत्‍तर प्रदेश सरकार में चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जय प्रताप सिंह, राजस्‍थान की पूर्व मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया के सांसद पुत्र दुष्‍यंत सिंह भी शामिल हुए थे। चूंकि जय प्रताप सिंह इसके बाद नोएडा में सरकारी कार्यक्रम में भाग लेने गये थे, जहां एक प्रेस वार्ता भी की थी जिसमें करीब 50 पत्रकार वार्ता में शामिल हुए थे। माना जा रहा है कि इसी वजह से मुख्‍यमंत्री ने लखनऊ, नोएडा और कानपुर शहर को सेनिटाइज करने के निर्देश दिये है।