Friday , October 22 2021

जानिये, कैसे मिलेगा सरकार की ‘आयुष्‍मान भारत योजना’ का लाभ

अगर कोई मांगे पैसे तो फोन पर ही कर सकते हैं शिकायत 

 

लखनऊ। विश्‍व की सबसे बड़ी स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना बतायी जा रही मोदी सरकार की आयुष्मान भारत योजना बीते रविवार 23 सितंबर से शुरू हो चुकी है। इसमें पांच लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा इसमें लोगों को दिया जाएगा। इसके बाद लोगों का यह प्रश्‍न बहुत ही स्‍वाभाविक है कि इसका लाभ कैसे और किसे मिल सकता है। इसकी जानकारी दी जा रही है। इस बारे में मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी, लखनऊ से मिली जानकरी के अनुसार हमने इसे सवाल और जवाब के रूप में लिखा है।

 

सवाल- मैं इस योजना के तहत आता हूं कि नहीं कैसे ये पता चलेगा?

जवाब- सन 2011 की जनगणना में गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को इसमें जगह मिलेगी. आप अपनी पंचायत में जाकर भी पता कर सकते हैं. इसके अलावा इसके लिए आपको सबसे पहले mera.pmjay.gov.in पर जाना होगा. मोबाइल नंबर डालकर OTP Verify करें. (राज्य) का नाम पूछा जाएगा. स्टेट सेलेक्ट करने के बाद मोबाइल नंबर/राशन कार्ड नंबर की मदद से जान सकेंगे कि आपको इस योजना का लाभ मिल रहा है कि नहीं।

सवाल- अस्पताल जाकर क्या करना होगा?

 

जवाब- मरीज को अस्पताल में जाकर आरोग्य मित्र से मिलना होगा। वह आपके आपसे आईडी प्रूफ मांगेगा। राशन कार्ड या फिर कोई भी अन्य कार्ड आपको दिखाना होगा. आरोग्य मित्र आपको ई-कार्ड देगा. इसमें आपकी फोटो के साथ आपका एड्रेस होगा. दूसरी बार प्रोसेस दोहराना नहीं होगा बल्कि ई-कार्ड दिखाने से काम बना जाएगा।

 

सवाल- अस्पताल जाकर क्या पैसा देना होगा?

जवाब: आपको इसके लिए एक रुपया भी नहीं देना है. अगर आपसे कोई पैसा मांगता है तो आपकी इसकी शिकायत 14555 पर फोन कर सकते है।

 

सवाल- कौन सी बीमारियों का इलाज करवा पाएंगे?

जवाब- आसान शब्दों में समझें तो मतलब साफ है कि जिन बीमारियों में आपको हॉस्पिटल में भर्ती नहीं होना पड़ता है. आप अपनी बीमारी के लिए डॉक्टर की सलाह पर बाहर से दवाइयां ले सकते हैं. इस योजना का फायदा हॉस्पिटल में भर्ती होने पर ही मिलेगा. इसमें भर्ती के तीन दिन पहले और हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने के 15 दिन बाद का खर्च मिलेगा।

 

 

सवाल- कौन से राज्य में कितने वेलनेस सेंटर हैं?

जवाब इसके दो कंपोनेंट हैं. पहला, 10.74 लाख परिवारों को मुफ्त 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा. दूसरा, हेल्थ वेलनेस सेंटर. इसमें देश भर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अपडेट होंगे. इन सेंटर में इलाज होगा और मुफ्त दवाइयां मिलेंगी. छत्तीसगढ़ में 1000, गुजरात में 1185, राजस्थान में 505, झारखंड में 646, मध्य प्रदेश में 700, महाराष्ट्र में 1450, पंजाब में 800, बिहार में 643, हरियाणा में 255.

 

सवाल-क्या आधार कार्ड के बिना मिलेगा योजना का लाभ?

 

जवाब- आयुष्मान भारत योजना के लिए आपको आधार कार्ड की जरूरत नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के अनुसार किसी भी सरकारी स्कीम का लाभ उठाने के लिए आपको आधार कार्ड की जरूरत नहीं है.