केजीएमयू मिल्‍क बैंक की हाईजीन हेल्‍पर कोरोना की चपेट में, भर्ती तीन मरीजों की मौत

-मरने वालों में दो लखनऊ के इंदिरा नगर के व एक हरदोई के रहने वाले

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में महामारी कोविड-19 जबरदस्‍त तरीके से अपनी पैठ बनाये हुए है, 24 घंटों में जहां किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय में भर्ती तीन रोगियों की मौत हुई, वहीं 165 नये मरीजों में कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। जिन तीन व्‍यक्तियों की मौत हुई है उनमें दो इन्दिरा नगर के रहने वाले हैं, जबकि एक व्‍यक्ति हरदोई का रहने वाला है। इसके अलावा केजीएमयू के मिल्‍क बैंक में कार्य करने वालीवाली 20 वर्षीय हाईजीन हेल्‍पर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

केजीएमयू के मीडिया प्रवक्‍ता डॉ सुधीर सिंह के अनुसार 54 वर्षीय पुरुष, निवासी इंदिरा नगर लखनऊ की 11 जुलाई को कोरोना वार्ड में मृत्यु हो गयी। रोगी को 4 जुलाई की शाम 4 बजकर 50 मिनट पर भर्ती किया गया था। रोगी को थायरायड की समस्या भी थी। रोगी संक्रमण की वजह से रेस्‍पाइरेटरी फेल्‍योर में चले गए थे। इनका इंदिरा नगर मेें भूतनाथ मा‍र्केट में मेडिकल स्‍टोर हैं। बताया जाता है इनका बेटा भी संक्रमण का शिकार है तथा केजीएमयू में भर्ती है।

इसके अतिरिक्‍त 83 वर्षीय पुरुष, निवासी इंदिरा नगर लखनऊ की 12 जुलाई शाम 4 बजे कोरोना वार्ड में मृत्यु हो गयी। रोगी को 24 जून की शाम 6 बजकर 50 मिनट पर भर्ती किया गया था। रोगी को उच्च रक्तचाप की समस्या भी थी। रोगी संक्रमण की वजह से रेस्‍पाइरेटरी फेल्‍योर में चले गए थे।

इसी प्रकार 67 वर्षीय पुरुष, निवासी बंसा मल्लावां, हरदोई की 12 जुलाई  शाम 5 बजकर 20 मिनट पर कोरोना वार्ड में मृत्यु हो गयी। रोगी को 12 जुलाई की शाम 4 बजकर 28 मिनट पर भर्ती किया गया था। रोगी को मधुमेह की समस्या भी थी। रोगी संक्रमण की वजह से शॉक तथा एक्‍यूट रेस्‍पाइरेटरी डिस्‍ट्रेस सिंड्रोम में चले गए थे।

उन्‍होंने बताया कि मिल्क बैंक में तैनात 20 वर्षीय हाईजीन हेल्‍पर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनको आंत की टी बी है। यह गत एक माह से उपचार करा रही हैं। ड्यूटी ज्‍वॉइन करने से पहले इनको कोरोना जाँच के लिए कहा गया था।

इसी जाँच में इनके रोग की पुष्टि हो गयी। इनको आईडीएच में भर्ती कर लिया गया है। विभाग में इनसे कोई कार्य नहीं लिया गया। 4 अन्य कर्मी इनके सम्‍पर्क में आये थे। सभी को होम क्‍वारेंटाइन कर पाँचवे दिन जांच के लिए कहा गया है।