लोगों में उत्‍साह जगाने के लिए टीका लगवाने के बाद डालें सेल्‍फी

-उत्‍सव की तरह मनायें कोविड टीकाकरण अभियान : डॉ सूर्यकान्‍त

-दूसरा डोज लगवाने के बाद साझा किये एक माह के अनुभव

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कोविड टीकाकरण अभियान को एक उत्सव के रूप में मनाने का आह्वान राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन-उत्तर प्रदेश के कोविड टीकाकरण अभियान के ब्रांड एम्बेसडर व किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के रेस्परेटरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकान्त ने किया है । सोमवार को टीके की दूसरी डोज लगवाने के बाद उन्होंने अपने एक महीने के अनुभव को साझा करते हुए उन्होंने समुदाय से यह आह्वान किया।

​डॉ. सूर्यकान्त का कहना है कि कोविड को मात देने के लिए तैयार की गयी वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित व असरदार है। इसकी गुणवत्ता को लेकर किसी को भी किसी तरह का भ्रम नहीं पालना चाहिए। एक चिकित्सक होने के नाते उन्हें पहले से पता था कि आम टीका लगवाने के बाद भी हल्का-फुल्का बुखार या दर्द की शिकायत हो सकती है किन्तु कोविड का टीका लगवाने के बाद यह सब भी नहीं हुआ। टीका लगवाने के बाद पहले की ही तरह अपने नियमित कार्यों को कर रहा हूँ। उन्होंने कहा कि 16 जनवरी को टीकाकरण को लेकर उनमें काफी उत्साह था और उनको सबसे पहले टीका लगवाने का सौभाग्य भी मिल गया । आज दूसरी डोज लगवाने के बाद एक फीडबैक फ़ॉर्म भी टीकाकरण केंद्र पर भरवाया गया, जिसमें पिछले एक महीने के दौरान किसी तरह की दिक्कत आदि के बारे में जानकारी मांगी गयी।

इन्डियन मेडिकल एसोसिएशन-एएमएस के राष्ट्रीय वाइस चेयरमैन डॉ. सूर्यकान्त का कहना है कि एक वर्ष की लम्बी लड़ाई के बाद अब कोरोना को मात देने की बारी आई है । इसलिए हर किसी को चाहिए कि जैसे अपने घरों में धार्मिक, सांस्कृतिक व अन्य पर्वों को पूरे उत्साह के साथ मनाते हैं उसी तरह टीकाकरण अभियान को भी मनाएं। जब भी जिसकी बारी आए वह पूरे उत्साह के साथ टीका लगवाएं। टीका लगवाने के बाद अपनी सेल्फी भी सोशल मीडिया पर शेयर करें ताकि अन्य लोग भी पूरे उत्साह के साथ टीका लगवाने को आगे आयें और एक बेहतर माहौल तैयार हो सके। उन्होंने समुदाय से यह भी अपील कि है कि कोरोना से पूरी तरह से निजात पाने के लिए अब भी जरूरी है कि जब भी घर से बाहर निकलें मास्क से अच्छी तरह से नाक व मुंह को ढककर रखें, एक दूसरे से दो गज की दूरी बनाकर रखें और हाथों की स्वच्छता का पूरी तरह से खयाल रखें।