संक्रमित खून चढ़ना सबसे बड़ा कारण है हेपेटाइटिस सी होने का

-सड़क किनारे शेव करवाना पुरुषों में इस संक्रमण का सबसे बड़ा कारण

-केजीएमयू के चिकित्‍सकों ने लिवर क्‍लीनिक में आने वाले 31,440 लोगों को किया गया था शामिल

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो  

लखनऊ। जानलेवा हेपेटाइटिस सी होने के कारणों में सबसे बड़ा कारण ब्लड ट्रांसफ्यूजन पाया गया है जबकि दूसरा बड़ा कारण असुरक्षित तरीके से दंत चिकित्सा और तीसरा बड़ा कारण सड़क के किनारे शेविंग यानी दाढ़ी बनवाना पाया गया। महिला और पुरुषों की अलग-अलग बात करें तो महिलाओं में ट्रांसफ्यूजन और पुरुषों में फुटपाथ पर दाढ़ी बनवाना सामने आया है। 92.9% महिलाओं में संक्रमण का पहला कारण ब्लड ट्रांसफ्यूजन और 75.6% पुरुषों में पहला कारण सड़क के किनारे शेविंग कराना पाया गया।  

यह अध्ययन किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के डॉ अजय कुमार पटवा, डॉ वी आतम डॉ सुमित रूंगटा और अमरजीत की टीम द्वारा वर्ष 2014 से 2017 तक केजीएमयू में लिवर क्लीनिक में आए रोगियों पर किया गया था। इस स्टडी को हाल ही में जनरल ऑफ फैमिली मेडिसिन एंड प्राइमरी केयर में प्रकाशन के लिए स्वीकार किया गया है।

डॉ अजय पटवा ने यह जानकारी देते हुए बताया है कि इस अध्ययन में कुल 31,440 मरीजों को शामिल किया गया था इनमें एचसीवी यानी हेपिटाइटिस सी संक्रमण की 310 रोगियों में पुष्टि हुई इनमें 50.3 प्रतिशत महिलाएं तथा 49.7 प्रतिशत पुरुष पाए गए, यानी महिला और पुरुष के अनुपात में कोई खास फर्क नहीं था।

उन्होंने बताया इनमें सर्वाधिक 49% मरीजों में हेपेटाइटिस सी होने का कारण पिछली सर्जरी के दौरान हुए ब्लड ट्रांसफ्यूजन को पाया गया जबकि 41 प्रतिशत लोग वे थे जिन्हें दांत की सर्जरी के दौरान हेपिटाइटिस सी का संक्रमण हुआ तथा 38.1% लोग वे थे जो सड़क के किनारे शेविंग कराते थे। पुरुषों और महिलाओं में संक्रमण की बात करें तो

जिलों की बात करें तो ज्‍यादातर मामले लखनऊ में ब्लड ट्रांसफ्यूजन और दंत सर्जरी से संक्रमित होना पाया गया। अध्ययन में यह भी पाया गया कि एचआईवी संक्रमण के मरीज 0.99 प्रतिशत थे जो कि दुनिया की 1 फीसदी संक्रमित आबादी के साथ-साथ भारत के पिछले अध्ययनों के समान है। उन्‍होंने कहा कि आमजन, चिकित्सकों, सर्जनों और पैरामेडिकल स्वास्थ्य कर्मियों के बीच एचसीवी संक्रमण होने के तरीके के बारे में जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता है।