ऊँ के उच्चारण से पंडाल अभिमंत्रित कर कराया तालीआसन और हास्यासन

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का किया गया उद्घाटन

नकौडा-कुंडासर। आयुर्वेदिक चिकित्सालय के प्रभारी व कैसरगंज के सेक्टर मजिस्ट्रेट  डॉ देवेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि ऐलोपैथी से तत्‍काल आराम मिल जाता है परन्‍तु आयुर्वेद तो स्‍वस्‍थ को स्‍वस्‍थ बनाकर अस्‍वस्‍थ बनाता है। डॉ श्रीवास्‍तव ने यह बात आरोग्य केन्द्र प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र के उद्घाटन अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में कही। इस कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा थे।

 

डॉ श्रीवास्‍तव को सामु‍दायिक स्वास्‍थ्‍य केंद्र के अधीक्षक ने मोटीवेशन व्‍याख्‍यान के लिए आमंत्रित किया था। सेंटर का उद्घाटन कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने किया। इसके बाद डॉ श्रीवास्तव ने उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए सबसे पहले जन समुदाय से ओम के उच्चारण से पंडाल को अभिमंत्रित कराया फिर शरीर को ऊर्जावान बनाये रखने के लिए ताली बजा कर तालीआसन कराया फिर हास्यासन कराया और बताया कि एलोपैथी से तत्काल आराम मिल जाता है परन्तु आयुर्वेद तो स्वस्थ को स्वस्थ बनाकर अस्वस्थ होने ही नहीं देता है।

कार्यक्रम का संचालन करते डॉ देवेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया शौच के लिए जागरूक करते रहना दिल से करिये बताइए आप गंदगी करेंगे उस पर मक्‍खी बैठेगी वही उड़ के आपके खाने में बैठेगी उससे आपका परिवार रोग ग्रस्त हो सकता है वैसे अब गांव में सभी लोगो को शौचालय उपलब्ध कराया जा रहा  है यदि किसी के पास शौचालय नहीं है तो पड़ोसी का धर्म बनता है कि वह अपने यहां आमंत्रित करे, गांव में पूरा भाईचारे के माहौल बना कर रखे।

 

डॉ देवेश ने बताया कि बहुत सारे ऐसे नुस्खे हैं जिससे भयावह डेंगू बुखार के लिए हमारे ग्रामीण लोगों के पास नीम, गिलोय जैसी औषधियां है जिसके सेवन से रोग होगा ही नहीं यदि होगा भी ठीक हो जायेगा, हेपेटाइटिस में मकोय, पुनर्नवा कुटकी आदि कुछ और औषधि के मिश्रण से लिवर के भयंकर रोग को भगाया जा सकता है।

 

डॉ देवेश श्रीवास्तव ने बताया कि विभिन्न विभागों के अधिकारियों माध्यम से बहुत नुस्खे नियम संयम की जानकारी दी जा रही है। पूरे बहराइच में हमारे सभी ग्रामीणों व शहरी क्षेत्र के लोगों को बताया जा रहा है, जिसका फायदा उठा कर वे पूर्ण स्वस्थ बने रहे बीमार ही न पड़ें, मच्छरो से बचे पानी के गड्ढे कहीं भी हो मिट्टी का तेल कोटेदार से बोल कर डलवायें उनको निर्देश है वे तुरंत डालेंगे एन्टी लार्वा भी प्रधान से कह कर फ्री में डलवायें जागरूक बनना बहुत जरूरी है। उन्‍होंने ग्रामीणों को बताया आपके बच्चे बड़े बड़े ऑफिसर बन सकते बस आप उनको नियम से स्कूल भेजने में गंभीरता बरतें,साफ सफाई केवल सफाई कर्मचारियों का काम नही है सफाई हर जगह कह देखे कोई गंदगी करे तुरन्त टोकें चाहे वह सुबह शौच के लिए जा रही महिला व पुरुष हो ,बस में, ट्रेन दुकान पर चाट का दोना हो, सबके लिए टोकना है।