Friday , October 22 2021

कैंडिल मार्च निकालकर आईएमए ने दी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि

उत्‍तर प्रदेश के शहीदों को आर्थिक सहायता भी भेजेगा यूपीआईएमए

लखनऊ। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा के शहीद हूए सीआरपीएफ के जवानो को कैंडिल मार्च निकालकर श्रद्धांजलि दी। आईएमए लखनऊ के अध्यक्ष डा0 जीपी सिंह के नेतृत्व में बड़ी संख्या में चिकित्सकों ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए सैनिकों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा एवं कैंडिल जलाकर शहीदों को याद किया।

 

सचिव डॉ जेडी रावत ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सदस्यों का सुझाव पर यह भी निर्णय लिया गया कि आईएमए के सभी सदस्य शहीद सैनिक के परिवार को अर्थिक सहायता के लिए अपनी क्षमता के अनुसार आईएमए लखनऊ को दान देंगे ! इस तरह से एकत्रित धन लगभग 15 दिन बाद किसी शहीद सैनिक परिवार को अर्थिक सहायता के रूप में घर जाकर दिया जायेगा। यह विचार यूपी आईएमए को प्रेषित किया जा रहा है कि अलग अलग जिला शाखाओं से धन एकत्रित कर यूपी के 12 शहीद जवानों के परिवार को सीधे आईएमए आर्थिक सहायता दी जाये।

 

पत्‍थरबाजों को मिलनी चाहिये कड़ी से कड़ी सजा

इस मौके पर यूपी आईएमए के अध्य्रक्ष डा एएम खान ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि कश्‍मीर में लम्‍बे समय से पत्‍थरबाजी हो रही है। उन्‍होंने कहा कि पत्‍थरबाजों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिये। उन्‍होंने कहा कि‍ आतंकवाद को धर्म से जोड़ना गलत है। डॉ खान ने कहा कि इस्‍लाम में कहीं नहीं लिखा है कि जिस मुल्‍क में तुम रहो वहां का कानून न मानो, जो तुम्‍हारी रक्षा के लिए तैनात हैं, उन पर हमला करो।

 

इस शोक सभा में आईएमए के सचिव डा जेडी रावत, डा उर्मिला सिंह, डा रंजना सिहं, डा विनीता मित्तल, डा सरिता सिंह, डा मनीष टन्डन, डा0 राका प्रसाद, डा प्रांजल अग्रवाल, डा0 नईम अहमद शेख, डा0 अरुण पान्डेय सहित काफी संख्या में सदस्य मौजूद थे।