देशवासियों के साथ आईएमए भी कर रहा है ‘चन्‍दा-चन्‍दा’

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन लखनऊ ने किया है ब्‍लड बैंक की स्‍थापना का फैसला

धर्मेन्‍द्र सक्‍सेना

लखनऊ। आजकल पूरे देश में भारत से चांद पर भेजे गये चंद्रयान-2 पर चर्चा चल रही है। चन्‍दामामा से रिश्‍ता भारतीयों का बहुत पुराना है। बच्‍चों की लोरियां हों, या फि‍र महबू‍बा से इश्‍क का इजहार, करवा चौथ का व्रत हो या फि‍र ईद का त्‍योहार। चन्‍दा के बिना हमारी संस्‍कृति अधूरी है। अब अगर हम बात करें इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की लखनऊ शाखा की तो आजकल एसोसिएशन भी चन्‍दा की तलाश में तेजी से चक्‍कर लगा रही है। जी हां यहां जिस चन्‍दा का जिक्र हम कर रहे हैं, वह आईएमए के बनने वाले ब्‍लड बैंक के लिए धनराशि जुटाने वाले चन्‍दे की है।

आपको बता दें कि आम सभा में लिए गए निर्णय एवं अध्यक्ष डॉ जी पी सिंह के नेतृत्व में इस वर्ष आई एम ए लखनऊ की शाखा ने अपने रिवर बैंक स्थित कार्यालय आईएमए भवन में अपना ब्लड बैंक स्थापित करने का संकल्प लिया है। इस अभियान में डॉ रुखसाना खान, डॉ रमा श्रीवास्तव, डॉ आरबी सिंह, डॉ जेडी रावत, डॉ विनीता मित्तल, डॉ मोहम्मद अलीम सिद्दीकी, डॉ मनीष टंडन, डॉ जावेद खान, डॉ प्रांजल अग्रवाल, डॉ नईम अहमद कोर कमेटी के रूप में मार्गदर्शन देंगे।

आपको बता दें कि आई एम ए की कई शाखाओं का अपना ब्लड बैंक है, वाराणसी और बरेली ब्रांच बहुत अच्छा कार्य कर रही हैं लेकिन प्रदेश की राजधानी में ब्लड बैंक नही हैं, गुणवत्‍तापरक और किफायती रक्त आम लोगों की जरूरत हैं।

ब्‍लड बैंक के सपने को पूरा करने के लिए इसके लिए धनराशि जुटाने में पूर्व और वर्तमान पदाधिकारी अपने-अपने प्रयास कर रहे हैं। इसी कड़ी में दो दिन पूर्व आईएमए पदाधिकारियों की टीम चन्‍दा इकट्ठा करने निकली। सचिव डॉ जेडी रावत, डॉ मनीष टंडन, डॉ अलीम सिद्दीकी, डॉ प्रांजल अग्रवाल की टीम ने चौक क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरे में पांच चिकित्‍सकों डॉ विवेक कुमार सक्‍सेना ने 30 हजार, डॉ शत्रुघ्‍न सहाय ने 10 हजार, डॉ आस्‍मा परवीन ने 10 हजार, डॉ हरिओम सिंह ने 10 हजार तथा डॉ शमीम अहमद अंसारी ने पांच हजार रुपये सहयोग राशि दी।

डॉ प्रांजल अग्रवाल ने बताया कि इसके अलावा डॉ अनंत शील चौधरी, डॉ अभिनव पांडे और डॉ रिजवान उल हक ने जल्‍दी ही चेक देने को कहा है।

डॉ प्रांजल ने बताया कि इससे पहले ब्‍लड बैंक के लिए आईएमए के जिन सदस्‍यों ने जो आर्थिक मदद दी है उनमें लाल हॉस्पिटल के डॉ एसके श्रीवास्‍तव ने 20 हजार, आईएमए लखनऊ के पूर्व अध्‍यक्ष व पीके पैथोलॉजी के संस्‍थापक डॉ पीके गुप्‍ता ने 20 हजार, मनोरोग विशेषज्ञ डॉ मोहम्‍मद अलीम सिद्दीकी ने 20 हजार, कैंसर सर्जन डॉ मनोज कुमार श्रीवास्‍तव ने 25 हजार, माही डायग्‍नोस्टिक के डॉ एचके मिश्र ने 10 हजार, ईएनटी सर्जन डॉ पंकज श्रीवास्‍तव ने 10 हजार, डॉ राकेश कुमार श्रीवास्‍तव व डॉ गौरी श्रीवास्‍तव ने 20 हजार, डॉ रुखसाना खान ने 25 हजार, डॉ संजय निरंजन व डॉ निधि निरंजन ने 21 हजार, डॉ संजय सक्‍सेना व डॉ ऋतु सक्‍सेना ने 21 हजार, माइक्रो डायग्‍नोस्टिक के अजहर ने 5 हजार, सनराइज मेडिकेयर के डॉ एस सागर ने 20 हजार रुपये की सहायता दी है।

इसके अतिरिक्‍त सीतापुर के डॉ प्रदीप जैन ने 21 हजार, डॉ रमा श्रीवास्‍तव ने 20 हजार, डॉ देबनंदन चौधरी ने 15 हजार, डॉ पंकज रस्‍तोगी ने 21 हजार, डॉ शाश्‍वत विद्याधर ने 15 हजार, डॉ सुमित सेठ व डॉ वारिजा सेठ ने 21 हजार, डॉ मनीष टंडन ने 21 हजार, डॉ दीपक दीवान व डॉ उदिता दीवान ने 25 हजार, डॉ संदीप तिवारी ने 21 हजार, डॉ अतुल खन्‍ना ने 20 हजार, डॉ रवि भास्‍कर ने 21 हजार, डॉ जगदीप वर्मा ने 10 हजार, डॉ शशि राय ने 10 हजार, डॉ रजत रस्‍तोगी ने 21 हजार, डॉ एस मुंशी ने 50 हजार, डॉ जीविका गर्ग ने 5100 रुपये का योगदान दिया है।

डॉ प्रांजल ने कहा कि हम सबकी अपील है कि आईएमए के ब्‍लड बैंक की स्‍थापना में सहयोग के लिए सक्षम लोग सामने आयें। ऐसे लोग जब सामने आयेंगे तभी गुणवत्‍ता युक्‍त रक्‍त का बैंक बनाने में होने वाले खर्च के लिए धनराशि जुटायी जा सकेगी।