कोरोना पश्‍चात होने वाली बीमारियों में होम्‍योपैथिक दवा मददगार

-डॉ अनुरुद्ध वर्मा ने की लोगों से कोविड टीका लगवाने की अपील

डॉ अनुरुद्ध वर्मा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। केंद्रीय होम्योपैथी परिषद के सदस्य डॉ अनुरुद्ध वर्मा ने कहा है कि कोरोना के बाद होने वाली बीमारियों के उपचार में होम्योपैथिक दवाइयां काफी मददगार हैं, इसलिए होम्योपैथिक चिकित्सक की सलाह से इनका प्रयोग करना चाहिए। उन्‍होंने लोगों से कोरोना से बचाव के लिए बिना किसी डर के टीका लगवाने की अपील की है साथ मे यह भी कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए सभी को मास्क लगाना, सोशल डिस्टेन्स बनाये रखना, बार बार हाथ धोना, हाथों को सेनिटाइज करना, भीड़भाड़ में जाने से बचना एवं सरकारी दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित रूप से करना चाहिए।

उन्होंने बताया कि कोरोना से संक्रमित रोगियों उपचार के बाद भी उनमें अनेक शारिरिक एवं मानसिक जटिलताएं जैसे हृदय की बीमारी, सांस फूलना, श्वसन तंत्र की बीमारियां, थ्रोम्‍बोसिस, गुर्दे की क्षति, ब्रेन फॉग, चिंता, अवसाद, ओ सी डी, स्मृति हानि, भ्रम, भूलने की बीमारी, थकान, कमजोरी, शरीर में दर्द, अकड़न, जीवन में गुणवत्ता की कमी आदि हो सकती हैं।                

डॉ वर्मा ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए आयुष मंत्रालय भारत सरकार ने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) होम्योपैथिक औषधि आर्सेनिक अल्ब 30 की अनुशंसा की थी उसे भी चिकित्सक की सलाह से लेना चाहिए क्योंकि इसके बेहतर परिणाम प्राप्त हुये हैं। उन्होंने सलाह दी है कि टीकाकरण के साथ-साथ कोरोना बचाव के लिए सरकारी दिशा निर्देशों का पालन अनिवार्य रूप से करना चाहिए।