Thursday , June 30 2022

हिन्‍दुस्‍तान पेट्रोलियम अपनी सामाजिक जिम्‍मेदारी निभाने में पीछे नहीं

 

 

इस साल भी 50 दृष्टिबाधित बच्‍चों को दी स्‍कॉलरशिप

लखनऊ। अपने सामाजिक दायित्‍वों का निर्वहन करते हुए एक बार फि‍र हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड की ओर से दृष्टिबाधि‍त बच्‍चों के लिए स्कॉल्‍रशिप प्रदान की गयी है।  नेशनल एसोसिएशन फार ब्लाइंड ‘नैब’ की यूपी स्टेट ब्रांच लखनऊ के 50 दृष्टिबाधित छात्र – छात्राओं को छात्रवृत्ति गोमती नगर विराजखंड स्थित एमिटी इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित समारोह में दी गई। इस मौके पर उपस्थित हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड एलपीजी के जनरल मैनेजर राजीव कुमार तिवारी ने कहा कि हिन्‍दुस्‍तान पेट्रोलियम अपनी सा‍माजिक जिम्‍मेदारियों को समझता है और इसमें कभी पीछे नहीं रहता है उन्‍होंने कहा कि हर नागरिक को अपने सामाजिक दायित्वों के प्रति सजग रहना चाहिए।

 

बच्‍चों को छात्रवृत्ति का वितरण राजीव कुमार तिवारी के साथ ही हिन्‍दुस्‍तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन एलपीजी के मैनेजर अजय सिंह और एमिटी की प्रधानाचार्य मुक्ता घोषाल ने किया।

 

नैब लखनऊ की महासचिव शशी प्रभा गुप्ता ने बताया कि 2004 से हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड दृष्टिबाधित स्टूडेंटस को स्कॉलरशिप दे रहा है। इस साल जिन 50 बच्चों को यह छात्रवृत्ति दी जा रही है वह लखनऊ और बाराबंकी के हैं। इसमें प्राइमरी के बच्चों को तीन हजार, प्राइमरी से कक्षा 12 तक के लिए पांच हजार और कक्षा 12 से ऊपर के स्टूडेंटस के लिए 6500 रुपए की वार्षिक शैक्षणिक आर्थिक सहायता दी जाती है। संस्था के प्रयासों से बच्चों का एडमीशन भी उनके नजदीक के विद्यालयों में करवाया जाता है। उन्‍होंने बताया कि हर्ष का विषय यह है कि दृष्टिबाधित बच्चे भी सामान्य बच्चों के साथ शिक्षा ग्रहण करते हैं।

 

नैब की उपाध्यक्ष अमिता दुबे ने बताया कि उनकी संस्था के प्रयासों से “नैब” के स्टूडेंटस रहे उमेद सिंह राना, रिंकू जोशी, रिंकू यादव और हर्षित लोहिया राष्ट्रीय बैंकों की शाखाओं में पीओ और क्लेरिकल पोस्ट पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। उद्घाटन समारोह में दृष्टिबाधित शिवांश ने सिंथेसाइजर पर देशभक्ति की धुनें सुनाकर समां बांध दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − thirteen =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.