सरकार का बड़ा फैसला : टिक टॉक, हेलो सहित 59 चाइनीज ऐप्‍स भारत में प्रतिबंधित

-देश की सुरक्षा को बनाये रखने के लिए उठाया बड़ा कदम, लोगों से मिल रही थीं शिकायतें

लखनऊ/नई दिल्ली। लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच भारी तनाव के बीच भारत सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए टिक टॉक,  हेलो, यूसी ब्राउजर, लाईकी समेत 59 चाइनीज ऐप पर भारत में संचालन पर प्रतिबंध लगा दिया है।

मिल रही जानकारी के अनुसार भारत सरकार के इलेक्‍ट्रोनिक्‍स एंड आईटी मंत्रालय ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 69 ए के तहत लगायी गयी रोक में कहा गया है कि ‘हमारे पास उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, ये ऐप्स कुछ ऐसी गतिविधियों में संलिप्त हैं जो भारत की रक्षा, ​सुरक्षा, संप्रुभता और अखंडता के लिए हानिकारक है.’ तथा इससे भारत की जनता को भी खतरा है।

सरकार ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि कुछ दिनों से अनेक लोगों ने इन एप्‍स को लेकर हुई परेशानी और असुरक्षा की जानकारी सरकार के समक्ष रख रहे थे, इस प्रतिबंध को लगाने में इन शिकायतों को भी मद्देनजर रखा गया है।

भारत सरकार को यह भरोसा है कि उनका यह कदम भारत के करोड़ों नागरिकों और इंटरनेट यूजर्स को सुरक्षा प्रदान करेगा। यह कदम सीधा भारत की संप्रभुता और भारतीय साइबर स्‍पेस की रक्षा करेगा।  

भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित किये गये ऐप्‍स

टिक टॉक,

शेयर इट

केवाई,

यूसी ब्राउज़र

बायडू मैप

शीन

क्‍लैश ऑफ किंग्स

डीयू बैटरी सेवर

हेलो

लाइकी

यू कैम मेकअप

एम आई कम्‍युनिटी

सीएम ब्राउजर्स

वायरस क्लीनर

एप अस ब्राउज़र

रोम वी

क्लब फैक्टरी

न्‍यूज डॉग

ब्यूट्री प्लस

वी चेट

यूसी न्यूज़

क्‍यू क्‍यू मेल

वीबो

जेन्‍डर

क्‍यू क्‍यू म्‍यूजिक

क्‍यू क्‍यू न्यूज़फ़ीड

बिगो लाइव

सेल्‍फी सिटी

मेल मास्टर

पैरेलल स्‍पेस

एमआई वीडियो कॉल शाउमी

वी सिंक

ईएस फ़ाइल एक्सप्लोरर

वीवा वीडियो क्‍यू यू वीडियो आईएनसी

मी टू

विगो वीडियो

न्‍यू वीडियो स्‍टेटस

डीयू रिकॉर्डर

वॉल्‍ट- हाइड

कैश क्लीनर डीयू ऐप स्टूडियो

डीयू क्लीनर

डीयू ब्राउज़र

हैगो प्‍ले विद न्‍यू फ्रेंन्‍ड्स

कैम स्कैनर

क्लीन मास्टर चीता मोबाइल

वंडर कैमरा

फोटो वंडर

क्‍यू क्‍यू  प्लेयर

वी मीट

स्‍वीट सेल्फी

बायडू ट्रान्‍सलेट

वीमेट

क्‍यू क्‍यू इंटरनेशनल

क्‍यू क्‍यू  सिक्‍योरिटी सेंटर

क्‍यू क्‍यू लॉन्चर

यू वीडियो

वी फ्लाई स्टेटस वीडियो

मोबाइल लेजेन्‍ड्स

डीयू प्राइवेसी