बस एक-दो दिनों में बनने वाली है एसजीपीजीआई, केजीएमयू के कर्मचारियों की बात

-राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद के शिष्‍टमंडल को भरोसा दिया अपर मुख्‍य सचिव ने

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उ प्र के एक शिष्टमंडल ने परिषद के महामंत्री अतुल मिश्रा के नेतृत्व में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ रजनीश दुबे से एनेक्सी भवन में भेंट कर के जी एम यू, एस जी पी जी आई व मेडिकल कॉलेजों के कर्मचारियों की समस्याओं पर विस्तृत चर्चा हुई।

परिषद के महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि एस जी पी जी आई में कार्यरत संविदा कर्मचारियों का वेतन भुगतान, उनकी वेतन वृद्धि, वेतन का समय से भुगतान एवं उनकी सेवा संबंधी समस्याओं के सम्बंध में अवगत कराया जिस पर अपर मुख्य सचिव ने आश्वस्त किया कि संविदा कर्मचारियों की समस्याओं के निस्तारण के सम्बंध में एक-दो दिन में प्रभावी व आवश्यक शासन आदेश निर्गत कर दिये जायेंगे।

परिषद के शिष्टमंडल ने आज महामंत्री अतुल मिश्रा के साथ परिषद के प्रवक्ता व नर्सेज़ संघ के महामंत्री अशोक कुमार व उपाध्यक्ष सुनील यादव भी उपस्थित रहे।

महामंत्री अतुल मिश्रा ने डॉ दुबे को यह भी अवगत कराया कि के जी एम यू के कर्मचारियों की अनेक जायज़ समस्याएं लंबित पड़ी हुई हैं  समय से वेतन भुगतान नहीं हो पा रहे हैं, पेशेन्ट केयर एलाउंस के एरियर का भुगतान तीन वर्ष से लम्बित है, बोनस का भुगतान, नियमानुसार भत्तों का निर्धारण कर भुगतान करने, कर्मचारियों की ए सी पी का समय से न लगना, पदोन्नति बाधित है, कैडर पुनर्गठन में रुचि न लेना आदि। वहीं के जी एम यू के संविदा कर्मियों में उनकी मांगों को लेकर अत्यंत आक्रोश है। अत्यंत न्यूनतम वेतन वाले कर्मचारियों को समय पर वेतन न मिलने से उनको आर्थिक संकट का सामना करना पड़ता है, साथ ही उनकी सेवा शर्तें भी स्पष्ट नहीं हैं।

शासनादेशों के बावजूद संविदा कर्मचारियों का वेतन वार्षिक रूप से बढ़ाया नहीं जा रहा, वहीं उनकी सेवा प्रदाता कंपनियों द्वारा मनमानी की जा रही है। मानक के अनुरूप वेतन निर्धारण न करने पर श्री दुबे ने बताया कि शीघ्र ही इस संबंध में शासनादेश निर्गत कर संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए जाएंगे व जेम पोर्टल के माध्यम से नई सेवा प्रदाता के चयन की कार्यवाही भी शीघ्र सम्पादित होगी जिससे कर्मचारियों के शोषण पर विराम लगेगा, वहीं उन्होंने किंग जॉर्ज  मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुल सचिव को स्थाई कर्मचारियों की समस्याओं का सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करने हेतु निर्देशित किया। परिषद ने श्री दुबे का धन्यवाद ज्ञापित किया है।