हफ्ते में एक दिन खुद को और परिवार को जरूर दें, तभी रख सकेंगे दूसरों को स्‍वस्‍थ

चिकित्‍सकों को होने वाले तनाव को दूर करने के टिप्‍स बताये मनोवैज्ञानक ने

 

लखनऊ। सप्‍ताह में एक दिन का समय अपने लिए अवश्‍य निकालें, यह समय खुद को दें, परिवार को दें, जिस काम में रुचि हो उसे करें, ऐसा करने से चिकित्‍सकों को होने वाला तनाव दूर होगा।

 

यह सलाह मनोवैज्ञानिक डॉ शाजिया सिद्दीकी ने यहां नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन (नीमा) द्वारा आयोजित एक संगोष्‍ठी में भाग लेने आये नीमा के चिकित्‍सकों को दी। उन्‍होंने चिकित्‍सकों को होने वाले तनाव को दूर करने के उपाय के बारे में बताते हुए कहा कि किस तरह से अपनी जीवन शैली को रखें, कैसे प्रेशर को सॉल्‍व करें। उन्‍होंने कहा कि चिकित्‍सकों को चाहिये कि वे अपने कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर बांटकर समय का प्रबंधन करें।

 

उन्‍होंने बताया कि चिकित्‍सकों को चाहिये किसी कार्य के प्रति तनाव न लेकर अपना नजरिया बदलें, नींद भरपूर लें साथ ही व्‍यायाम जरूर करें। उन्‍होंने कहा कि हफ्ते में एक दिन खुद को दें तथा परिवार के साथ समय बितायें। उन्‍होंने कहा कि इस प्रकार अपने कार्य के साथ तालमेल बनाते हुए आप खुशियों भरा जीवन जी सकते हैं। आप चिकित्‍सक हैं और आपका काम है दूसरों को स्‍वस्‍थ रखना, ऐसे में अगर अपने ही स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति आप लापरवाह रहेंगे तो दूसरों का स्‍वास्‍थ्‍य किस प्रकार ठीक रख पायेंगे। इन टिप्‍स को आजमा कर देखिये आप खुद फर्क महसूस करेंगे।

यह भी पढ़ें : डिप्रेशन के मरीज 25 करोड़, मनोचिकित्‍सक सिर्फ 6000, ऐसे हल हो सकती है समस्‍या