गायत्री विद्यापीठ को मिला सीबीएसई बोर्ड का ‘ए प्लस’ केटेगरी

-1981 से स्‍थापित है गायत्री विद्यापीठ, अब तक कई उपलब्धियां कीं हासिल

लखनऊ/हरिद्वार। गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज की प्रबंधन समिति एवं शिक्षक अपने मेहनत एवं लगन से विद्यार्थियों को सदैव आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं। विद्यार्थियों को शैक्षणिक संसाधन उपलब्ध के साथ-साथ मानसिक सुदृढ़ता के लिए हरसंभव प्रयासरत हैं। यही कारण है कि यहां के विद्यार्थी नित नयी उपलब्धियां हासिल कर रहे हैं। इसी कड़ी में एक और नई उपलब्धि ने गायत्री विद्यापीठ को गौरवान्वित करने का अवसर दिया है। यह उपलब्धि सीबीएसई बोर्ड की ओर से ए प्लस कैटेगरी मिलना है। सीबीएसई बोर्ड ने इसके लिए विगत तीन वर्षों के विद्यापीठ  प्रबंधन समिति एवं विद्यार्थियों की मेहनत की संयुक्त रूप को आधार माना है। उल्लेखनीय है कि विगत कई वर्षों से विद्यापीठ का रिजल्ट शत-प्रतिशत रहा है।

विद्यापीठ की प्रबंधन समिति की अध्यक्ष शेफाली पण्ड्या ने बताया कि गायत्री विद्यापीठ 1981 से संचालित हैं। तब से लेकर अब तक के विद्यार्थियों ने कई महत्त्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल कर देश-विदेश में परचम लहरा रहे हैं। चिकित्सा, शोध, मैनेजमेंट, योग हो या शिक्षा, विभिन्न क्षेत्रों में गायत्री विद्यापीठ के एल्युमिनाई विद्यार्थियों ने कड़ी मेहनत से महत्त्वपूर्ण स्थान प्राप्त किया है। उनके इसी परंपरा को और आगे अधिक बढ़ाते हुए गायत्री विद्यापीठ के अपने विद्यार्थियों को सतत आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। उन्होंने बताया कि सीबीएसई बोर्ड ने गायत्री विद्यापीठ को अपना सर्वोच्च केटेगरी ‘ए प्लस’ में स्थान देकर विद्यापीठ की मेहनत पर अपना मुहर लगायी है और आशा व्यक्त की है कि विद्यापीठ सदैव अपने विद्यार्थियों को इसी तरह आगे बढ़ाते रहेंगे। उन्होंने बताया कि सीबीएसई बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय देहरादून ने इस आशय के साथ एक प्रशंसा पत्र दिया है।

उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों एवं शिक्षकों के संयुक्त प्रयास ने एक बार पुनः गौरवान्वित किया है।  गायत्री विद्यापीठ के अभिभावकद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्या, शैलदीदी ने खुशी जाहिर करते हुए विद्यापीठ परिवार को बधाई दी और कहा कि हमें पूरा विश्‍वास है कि गायत्री विद्यापीठ के सभी लोग सीबीएसई बोर्ड के विश्वास को बनाये रखेंगे।