केजीएमयू में डिप्‍टी रजिस्‍ट्रार के कमरे में लगी आग, फर्नीचर, कागजात जलकर राख

एक घंटे की मशक्‍कत के बाद बुझायी जा सकी आग 

 

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा वि‍श्‍व विद्यालय (केजीएमयू) में डिप्टी रजिस्टार डॉ.अनित परिहार के कमरे में रविवार सुबह करीब 11 बजे आग लग गई, अवकाश होने के कारण जब धुआं और आग बढ़ी तब लोगों की नजर उधर पड़ी। आनन-फानन में केजीएमयू कर्मचारियों ने प्रशासन को सूचना दी और तुरन्त फायर ब्रिग्रेड की गाड़िय़ों को बुला लिया गया, लगभग एक घंटे की मशक्कत के बाद आग को बुझा लिया गया। माना जा रहा है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी है।

 

 

आग से डिप्‍टी रजिस्‍ट्रार के कमरे में रखे महत्‍वपूर्ण कागजात, कम्प्यूटर सिस्टम, फर्नीचर आदि जलकर राख हो गये। हालांकि आग में जले महत्‍वपूर्ण कागजों के बारे में चर्चा थी कि इसमें घोटाले से सम्‍बन्धित फाइलें भी जली हैं लेकिन इसकी पुष्टि केजीएमयू प्रशासन नहीं कर रहा है, केजीएमयू प्रशासन का कहना है कि क्‍या नुकसान हुआ इसका ब्‍यौरा डिप्‍टी रजिस्‍ट्रार के आने के बाद ही पता चल सकेगा। ज्ञात हो रविवार होने के कारण अवकाश था।

 

केजीएमयू की मुख्‍य बिल्डिंग में स्थित डिप्‍टी रजिस्‍ट्रार डॉ.अनित परिहार के कमरें में सुबह 11 बजे धुआं उठता देखा, कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। केजीएमयू प्रशासन को आग लगने की सूचना दी गई, जिसके बाद तुरन्त  दमकल की गाड़िय़ां मौके पर पहुंच गई और उन्होंने दरवाजा तोड़कर आग को बुझाने का कार्य शुरू किया। इस दौरान खिड़कियां और कमरे का अंदर रखा फर्नीचर समेत कागजात खाक हो गई। लगभग एक घंटे बाद आग पर पूर्णतया काबू पा लिया गया और कमरे में सबकुछ जला हुआ पाया गया। इस संबन्ध में केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ.संतोष कुमार का कहना है कि सूचना मिलते ही कार्यवाई की गई है, फर्नीचर व कागजात जल गये हैं, मगर ये जले हुए कागजात कितने महत्वपूर्ण हैं, इसका आकलन तुरन्त नही किया जा सकता है। डॉ.परिहार ही इन फाइलों के संबन्ध में पुष्टि कर सकते हैं।