Thursday , August 18 2022

प्रसूति विशेषज्ञ विहीन 250 से ज्‍यादा पीएचसी को गोद लेगी फॉग्‍सी

-नये अध्‍यक्ष डॉ अल्‍पेश गांधी ने कार्यभार सम्‍भालते ही की घोषणा
-2020 के लिए चुने गये अध्‍यक्ष के रूप में कार्यभार सम्‍भाला 
-आयोजन की भव्यता से जय प्रताप सिंह आह्लादित

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो          

लखनऊ। फेडरेशन ऑफ़ ऑब्स्टेट्रिक एंड गायनीकोलॉजिकल सोसायटीज ऑफ़ इंडिया (फॉग्सी) के नए अध्यक्ष डॉ. अल्पेश गांधी ने कहा है कि देश भर में फॉग्सी की 258 सोसायटी इस समय चल रही हैं। प्रत्येक सोसायटी जल्द ही देश भर में कम से कम एक पीएचसी गोद लेगी। इनकी जिम्मेदारी होगी कि जिन पीएचसी पर प्रसूति विशेषज्ञ (गायनोकोलॉजिस्ट) नहीं है वहां पर इनकी तैनाती करें। जिससे कि महिलाओं और प्रसूताओं को बेहतर इलाज मिल सके।

यहां आशियाना स्थित मान्यवर कांशीराम स्मृति उपवन में चल रहे ऑल इंडिया कांग्रेस ऑफ़ आब्सटेट्रिक्स एंड गायनोकोलॉजी (एआईसीओजी 2020) के दूसरे दिन डॉ गांधी को यह जिम्मेदारी गुरुवार को दी गई। अध्यक्ष बनने के बाद अपने सम्‍बोधन में डॉ. अल्पेश ने कहा कि अगर प्रसूताओं को समय पर सटीक इलाज मिले तो मृत्यु दर को काफी कम किया जा सकता है। इसके लिए हमें प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाओं को और मजबूत बनाना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि पीएचसी पर अगर एक गायनोकोलॉजिस्ट तैनात की जाए तो कई प्रसूताओं की जान बचाई जा सकती है। रेफरल सेंटर का इससे काफी भार भी कम हो जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्लानिंग को जल्द ही जमीन पर उतारा जाएगा।

फॉग्सी का आयोजन गर्व की बात : जय प्रताप सिंह

उत्‍तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह गुरुवार को देर शाम एआईसीओजी 2020 में पहुंचे। आयोजन की भव्यता से आह्लादित जय प्रताप सिंह ने कहा कि फॉग्सी का आयोजन हमारे लिए गर्व की बात है।

उन्होंने कहा कि लखनऊ मेहमाननवाजी, अदब के लिए दुनिया में जाना जाता है। नवाबों के इस शहर में दुनिया भर से आये विशेषज्ञ डॉक्टरों का हम स्वागत करते हैं। उन्होंने फॉग्सी के नए अध्यक्ष डॉ. अल्पेश गांधी को बधाई भी दी। फॉग्सी के 38 हजार सदस्य हैं इन सभी सदस्यों को भी बधाई।  इसके अलावा एनएचएम के जरिये प्रदेश भर में हो रहे कामों को भी उन्होंने गिनाया।