लखनऊ सहित पांच जिलों में पॉजिटिव केसों की दर सबसे ज्‍यादा

-यूपी में 24 घंटे में मिले कोरोना के 2052 नये मामले, 28 की मौत

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। अक्‍टूबर माह में भले ही उत्‍तर प्रदेश में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 2 प्रतिशत चल रहा है लेकिन राजधानी लखनऊ, प्रयागराज, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर और मेरठ इन पांच जिलों में कोरोना संक्रमण का पॉजिटिविटी रेट सबसे ज्‍यादा है, जबकि सबसे कम पॉ‍जिटिविटी रेट वाले कानपुर देहात, हाथरस, श्रावस्ती, बागपत और पीलीभीत हैं। रविवार 25 अक्‍टूबर को भी लखनऊ में एक दिन में मरने वालों और संक्रमित होने वालों की संख्‍या दूसरे जिलों की अपेक्षा सबसे ज्‍यादा है, लखनऊ में बीते 24 घंटों में 310 नये केस सामने आये हैं तथा आठ लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में मरने वालों की संख्‍या 28 और नये संक्रमित होने वालों की संख्‍या 2052 है। उन्होंने कहा है कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क पहने घर से बाहर न निकले, सावधानी रखने की आवश्यकता है।

यह जानकारी देते हुए अपर मुख्‍य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,17,431 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,40,25,713 सैम्पल की जांच की गयी है। इनमें 1,35,55,443 की रिपोर्ट निगेटिव आयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 2052 नये मामले आये हैं। ज्ञात हो इस प्रकार अब तक कुल संक्रमित हो चुके लोगों की संख्‍या 470270 हो चुकी है। प्रदेश में विगत 24 घंटे में 2368 मरीज उपचारित होकर डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेश में अब तक कुल 4,36,071 व्यक्ति उपचारित होकर डिस्चार्ज किये गये हैं। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत अब बढ़कर 92.72 प्रतिशत हो गया है। प्रदेश में 27,317 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। होम आइसोलेशन में 12,229 लोग हैं। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 2,64,352 लोग होम आइसोलेशन की सुविधा प्राप्त करते हुए 2,52,123 लोगों ने अपने होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर ली है। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 1373 लोग ईलाज करा रहे हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,47,233 क्षेत्रों में 4,33,396 टीम दिवस के माध्यम से 2,77,78,768 घरों के 13,67,20,180 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि चिकित्सकीय उपचार के लिए ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया गया है। ई-संजीवनी के माध्यम से 2576 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। अब तक कुल 1,62,992 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल पर चिकित्सकीय परामर्श लिया।