Saturday , December 4 2021

डायबिटीज को कंट्रोल में रखने में परिवार की भूमिका अ‍हम : डॉ मनीष टंडन

-विश्‍व मधुमेह दिवस पर आईएमए लखनऊ ने आयोजित किया नि:शुल्‍क शिविर, पोस्‍टर प्रतियोगिता

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन लखनऊ के अध्यक्ष डॉ मनीष टंडन ने विश्व मधुमेह दिवस पर लोगों से अपील करते हुए कहा है कि शुगर कंट्रोल रखने में परिवार का अत्यंत महत्वपूर्ण रोल होता है, उन्होंने कहा परिवार के सभी लोग मिलकर एक साथ कम कैलोरी का भोजन करें तो मधुमेह से ग्रस्‍त लोगों के साथ ही दूसरे लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य पर भी अच्‍छा असर पड़ेगा।

डॉ टंडन ने यह सलाह आज विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर रिवर बैंक कॉलोनी स्थित आईएमए भवन पर आई एम ए द्वारा आयोजित नि:शुल्क शिविर के मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए कही। इस शिविर में आये हुए 80 मरीजों की ब्‍लड प्रेशर व ब्‍लड शुगर की जांच, परामर्श और आवश्‍यकतानुसार दवाओं का वितरण किया गया।

शिविर का उद्घाटन करते हुए डॉ मनीष टंडन ने कहा कि अक्‍सर देख गया है कि लोग रात का खाना भारी खाते हैं, उन्‍होंने कहा कि लोगों के लिए मेरी सलाह है कि रात का खाना हल्‍का खायें और बहुत देर से न खायें, जल्‍दी खायें साथ ही खाने के बाद लगभग आधा घंटा टहल लेंगे तो यह स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अत्‍यन्‍त ही लाभप्रद होगा। उन्‍होंने कहा कि अगर परिवार में कोई व्यक्ति डायबिटीज का रोगी है तो उसकी शुगर कंट्रोल रखने में परिवार की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है, मधुमेह रोगी को डिप्रेशन से बचाने के लिए भी परिवार को अपनी भूमिका का अच्छे से निर्वहन करना चाहिए। उन्होंने कहा अक्सर ऐसा होता है कि मरीज अपनी डायबिटीज की बीमारी को लेकर आगे तक की सोचता है या उसके सामने ऐसी परिस्थितियां आती हैं जबकि उसे अपने मधुमेही होने पर अफसोस होता है। यही सोच कुछ मरीजों को अवसाद यानी डिप्रेशन में ले जाती है, ऐसे में यदि परिवार घुल-मिल कर, हंस-बोल कर एक-दूसरे का दुख बांटते हैं तो मधुमेह से ग्रस्‍त व्‍यक्ति के अंदर भी हौसला बढ़ा रहता है, नतीजा यह होता है कि उसकी डायबिटीज उस पर हावी नहीं होने पाती है।

शिविर में आए लोगों की ब्लड प्रेशर और शुगर की जांच भी की गई तथा उसके अनुसार दवा का वितरण किया गया मरीजों की जांच और उन्हें परामर्श डॉ राकेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा दिया गया। डॉ श्रीवास्तव ने मरीजों को ध्यानाकर्षण कराते हुए कहा कि अपने खानपान पर विशेष रूप से ध्यान दें। उन्होंने कहा कि मधुमेह और ब्लड प्रेशर के रोगियों को सुबह 25 से 30 मिनट पैदल चलना चाहिए और अपने डॉक्टर की सलाह से दवा नियमित रूप से खानी चाहिए।

इस मौके पर डॉ अनीता सिंह के संयोजन में एक पोस्टर प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया, इसमें केके इंस्टीट्यूट ऑफ़ नर्सेज के 20 स्टूडेंट्स द्वारा भाग लिया गया। प्रतियोगिता के पश्चात इन विद्यार्थियों को आई एम ए लखनऊ के सचिव डॉ संजय सक्सेना द्वारा पुरस्कार वितरण किया गया। आज के इस कार्यक्रम में प्रेसिडेंट इलेक्ट डॉ जेडी रावत, डॉ अनीता सिंह, डॉ सरस्वती देवी, आईएमए के मुख्य प्रवक्ता डॉ वीरेंद्र कुमार यादव सहित कई लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अंत में सचिव डॉ संजय सक्सेना द्वारा आए हुए सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight − 6 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.