Tuesday , August 23 2022

मरीजों की जान से खेलने वाली निजी पैथोलॉजी के झूठ का पर्दाफाश

एलाइजा विधि की सुविधा न होने के बाद भी रिपोर्ट में जिक्र, होगा पंजीकरण निरस्‍त

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। चिकित्‍सा जैसे पेशे में आखिर कैसे कोई किसी की जान से खिलवाड़ कर सकता है, लेकिन ऐसा हो रहा है, शहर में डेंगू का डंक हावी है, लोग परेशान हैं, डेंगू की पुष्टि के लिए एलाइजा विधि से जांच अनिवार्य है। लेकिन केशव नगर स्थित एक पैथोलॉजी में एलाइजा जांच की सुविधा न होने के बावजूद रिपोर्ट में एलाइजा विधि से जांच की रिपोर्ट होने का दावा किया जाता है। जांच में पैथोलॉजी के झूठ का पर्दाफाश हुआ है, अब इस पैथोलॉजी का पंजीकरण निरस्‍त करने के निर्देश दिये गये हैं।

डॉ नरेंद्र अग्रवाल

लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नरेंद्र अग्रवाल द्वारा दिए गए निर्देश के क्रम में पैथोलॉजिस्ट डॉ राजेश स्टेट, डॉ के पी त्रिपाठी एवं टीम द्वारा दिव्यांश पैथोलॉजी केशव नगर का निरीक्षण किया गया। बताया गया कि दिव्यांश पैथोलॉजी द्वारा डेंगू रोग के मरीजों की एलाइजा विधि द्वारा जांच रिपोर्ट दी जा रही थी, लेकिन टीम द्वारा इस पैथोलॉजी में एलाइजा विधि से जांच की कोई भी मशीन नहीं पायी गयी एवं पैथोलॉजी द्वारा कोई भी साक्ष्य एलाइजा विधि द्वारा जांच का टीम को उपलब्ध नहीं कराया गया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा तत्काल दिव्यांश पैथोलॉजी का पंजीकरण निरस्त करने एवं अग्रिम कार्यवाही के लिए निर्देशित किया गया है।