संघ के लगातार संघर्ष के बाद भी मिला है सिर्फ और सिर्फ आश्‍वासन

उप्र माध्‍यमिक शि‍क्षक संघ से अधिकृत प्रत्याशी डॉ महेन्द्र नाथ राय के केन्द्रीय चुनाव कार्यालय का उद्घाटन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। लखनऊ खण्ड शिक्षण निर्वाचन क्षेत्र के सदस्य विधान परिषद के आगामी चुनाव-2020 के लिए उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शि‍क्षक संघ से अधिकृत प्रत्याशी डॉ महेन्द्र नाथ राय के केन्द्रीय चुनाव कार्यालय का उद्घाटन आज 26 नवम्‍बर को 303, ए-ब्लॉक, विधायक आवास, ओसीआर बिल्डिंग में किया गया। इस अवसर पर डॉ महेन्द्र नाथ राय ने कहा कि हमारा संगठन विगत कई वर्षो से शिक्षकों की लम्बित समस्याओं के निराकरण के लिए सड़क से सदन तक संघर्ष करता रहा है, किन्तु सत्ताधारियों ने सदैव आश्वासन एवं सहमति ही दी है, निराकरण आज तक नहीं किया।

उन्‍होंने बताया कि संगठन की जो मांगें हैं, उनमें 1. असहायिक मान्यता प्राप्त विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों एवं शिक्षणेतर कर्मचारियों को कोषागार से सीधे बैंक खाते के माध्यम से सम्मान जनक पाँच अंकों में मानदेय दिलाना और उनकी सेवा नियमावली निर्मित कराना। 2. नई अंशदायी पेंशन व्यवस्था के स्थान पर पुरानी प्रचलित पेंशन व्यवस्था बहाल कराना। कोषागार से वेतन आहरित कर रहे अद्यतन कार्यरत तदर्थ शिक्षकों का विनियमितिकरण। 3. राज्य कर्मचारियों की भाँति सभी विद्यालयों के शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को कैशलेस चिकित्सीय सुविधा दिलाना तथा 4. आमेलित विषय विशेषज्ञ को उनके पूर्व की सेवाओं का लाभ दिलाना।

डॉ राय ने बताया कि संगठन ने एक बार फिर मुझे लखनऊ शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से आगामी चुनाव के लिए प्रत्याशी घोषित किया है। जिसके उपरान्त मेरे व मेरे शिक्षक साथियों द्वारा शिक्षक मतदाता जागरूकता अभियान चलाया गया जिसका परिणाम यह रहा कि लखनऊ निर्वाचन क्षेत्र के सातों जनपदों के शिक्षकों ने अपना मतदाता फार्म भरकर जमा किया एवं अन्य शिक्षक साथियों को प्रोत्साहित भी किया जिसके क्रम में सातों जनपदों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार क्रमशः लखनऊ-लगभग 10 हजार, प्रतापगढ़- लगभग 4 हजार, सीतापुर लगभग 4 हजार, रायबरेली- लगभग 2 हजार, हरदोई- लगभग 3 हजार, बाराबंकी- लगभग 3 हजार, लखीमपुर खीरी- लगभग 2 हजार शिक्षकों ने अपना नाम मतदाता सूची में सम्मिलित कराने के लिए मतदाता फार्म जमा किये।

इस अवसर पर मण्डलीय मंत्री सुशील कुमार पाण्डेय, जिलाध्यक्ष विनोद कुमार मिश्र, जिलामंत्री राजकुमार गौतम एवं निर्मल कुमार श्रीवास्तव, अभिषेक श्रीवास्तव, आलोक श्रीवास्तव, डॉ सुधीर कुमार राय, रवि प्रकाश राय सहित अनेक शिक्षक उपस्थित रहे।