Tuesday , August 16 2022

डॉ गिरीश गुप्‍ता दीनदयाल उपाध्‍याय का सपना पूरा कर रहे : चंद्र प्रकाश अग्निहोत्री

-भारत ज्‍योति शिक्षा केंद्र में अध्‍ययनरत बच्‍चों के बीच मनाया गया स्‍वाधीनता दिवस

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। 15 अगस्त को भारत विकास परिषद की परमहंस शाखा व होमियोपैथिक रिसर्च फाउंडेशन द्वारा संयुक्त रूप से संचालित सांई शरण धर्मार्थ चिकित्सालय परिसर गायत्री नगर में ध्वजारोहण किया गया तथा वहीं पर भारत ज्‍योति शिक्षा केंद्र में नि:शुल्‍क प्राथमिक शिक्षा प्राप्त कर रहे 80 से अधिक अति निर्धन बच्चों के मध्य अमृत महोत्सव पर्व मनाया गया।

इस अवसर पर उपस्थित बच्‍चों व लोगों को सम्‍बोधित करते हुए राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ के चन्द्र प्रकाश अग्निहोत्री ने कहा कि‍ भारतीय जनसंघ के सेस्‍थापक दीन दयाल उपाध्‍याय कहते थे कि दरिद्र नारायण यानी गरीब व्‍यक्ति की सेवा करना ईश्‍वर की सेवा करने के बराबर होता है। मुझे यह कहते हुए खुशी है कि दीन दयाल उपाध्‍याय के इस सपने को  डॉ गिरीश गुप्‍ता पिछले 15 वर्षों से चरितार्थ कर रहे हैं।  

भारत विकास परिषद के क्षेत्रीय संरक्षक डा गिरीश गुप्ता ने उपस्थित बच्‍चों को आजादी के इस पर्व का महत्‍व समझाया और कहा कि अपने माता-पिता की सेवा करें, साफ-सफाई का ध्‍यान रखें और पढ़ने में खूब मन लगाकर एक अच्‍छे नागरिक बनकर अपने माता-पिता का नाम रौशन करें। उन्‍होंने कहा‍ कि देश प्रेम की भावना सर्वोपरि है, यदि आजादी के दीवानों ने यह देश प्रेम न दिखाया होता तो हम गुलामी की जंजीरों से कभी भी आजाद नहीं हो सकते थे।

ध्वजारोहण के पश्चात बच्चों द्वारा देशभक्ति के मनमोहक गीत, नृत्य व लघु नाटिका प्रस्तुत की गयीं। भारत विकास परिषद की परमहंस शाखा व डॉ गिरीश गुप्ता द्वारा शिक्षकों व सहयोगियों का माला पहनाकर व नकद राशि देकर सम्मान किया गया।  इस अवसर पर अवध प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष कृष्ण जीवन रस्तोगी श्री रस्‍तोगी व चन्द्र प्रकाश अग्निहोत्री द्वारा सम्मानजनक राशि चिकित्सालय के लिए शाखा सचिव को प्रदान की गयी। धन्यवाद ज्ञापन व बच्चों को बिस्कुट, नमकीन व अन्य सामग्री वितरण के साथ कार्यक्रम समाप्त हुआ।   

इस मौके पर भारत विकास परिषद के प्रांतीय संरक्षक मदनलाल अग्रवाल  के साथ ही शाखा दायित्वधारी प्रो दिनेश चन्द्र मिश्र, यतीन्द्र कुमार गुप्ता, के सी जैन, एसपी श्रीवास्तव, आशीष मिश्रा, नमिता शर्मा, वीना गुप्ता व अन्य सदस्यों सहित चिकित्सक, शिक्षक, सहयोगी व बच्चे उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × 1 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.