Thursday , August 18 2022

अचानक पीजीआई के कोरोना हॉस्पिटल पहुंच कर मरीजों से रू-ब-रू हुए निदेशक

-मरीजों ने कहा, सुविधायें विश्‍वस्‍तरीय, कर्मियों की पीठ थपथपायी प्रो धीमन ने

पीपीई किट पहने चारों डॉक्‍टरों का परिचय किट में लगे उनके नाम के टैग दे रहे हैं, कोविड वार्ड में मरीज के पास खड़े बायें से डॉ ओपी संजीव, डॉ आरके सिंह, प्रो आरके धीमन और डॉ आलोक नाथ

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। संजय गांधी पीजीआई के राजधानी कोरोना अस्पताल में भर्ती मरीजों से हाल-चाल लेने आज अचानक मध्यान्ह 12:00 बजे संस्थान के निदेशक प्रोफेसर आरके धीमन पहुंच गए। निदेशक यहां करीब दो घंटे रुके। संतोषजनक बात यह रही कि भर्ती रोगियों, जिनमें आईएएस अधिकारी भी शामिल हैं, का कहना था कि यहां की सुविधायें विश्‍व स्‍तरीय हैं।

प्रोफेसर धीमन के साथ कोरोना अस्पताल के नोडल ऑफिसर एवं प्रभारी प्रो आरके सिंह, पल्मोनरी मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ आलोक नाथ तथा इमरजेंसी मेडिसिन के सहायक आचार्य डॉ ओपी संजीव भी  निरीक्षण में उपस्थित रहे। प्रोफेसर धीमन सहित चारों ने पीपीई किट से लैस होकर इमरजेंसी से लेकर एच डी यू एवं आईसीयू वार्ड के हर क्षेत्र का निरीक्षण किया।

निदेशक ने भर्ती रोगियों से बातचीत कर अस्पताल में उन्हें दी जा रही सुविधाओं के बारे में उनके विचार जाने। निदेशक ने पूछा कि उन लोगों को यहां जो भोजन दिया जा रहा है उसकी गुणवत्ता कैसी है। इस पर भर्ती रोगियों ने कहा की अस्पताल में चिकित्सक हों या नर्स अथवा कोई भी स्टाफ सभी का व्यवहार अच्छा है। यहां तक कि रोगियों का यह भी कहना था कि यहां मिल रही सुविधा विश्वस्तरीय है। आपको बता दें की इस समय अस्पताल में कुछ आईएएस और उनके परिजन भी भर्ती हैं।

प्रो आरके सिंह ने रोगियों से साफ-सफाई के बारे में पूछा तो सभी ने इसकी प्रशंसा की। यह सुनकर नोडल अफसर ने सफाई कर्मियों का उत्साहवर्धन भी किया। इसके अतिरिक्त निदेशक प्रो धीमन ने भी निरीक्षण में खामी न पाये जाने तथा भर्ती रोगियों के मुंह से कर्मचारियों के व्यवहार और सुविधाओं की प्रशंसा सुनने के बाद संतोष जताते हुए कर्मचारियों की सराहना की और उनका उत्साह बढ़ाया।

निदेशक प्रो धीमन ने बताया कि हमारे मैनेजमेंट प्रोटोकॉल का लाभ अन्य मेडिकल कॉलेजों को भी हो सके इसके लिए हमारे वर्चुअल आईसीयू जैसी ट्रेनिंग अन्य कॉलेजों को भी प्रदान की जाएगी, इसके लिए एक विशेष इलेक्ट्रॉनिक कियोस्क विद हाई डेफिनेशन कैमरा का प्रबंध जल्दी ही किया जा रहा है। इससे हमारे यहां का कोविड मैनेजमेंट प्रोटोकॉल अन्य मेडिकल कॉलेजों को भी लाइव दिखाया जा सकेगा। निदेशक द्वारा किये गये इस निरीक्षण पर कर्मचारी नेताओं ने भी खुशी जाहिर की है।