Friday , December 10 2021

यूपी सरकार की छवि को जान-बूझकर धूमिल कर रहे निदेशक प्रशासन

-यूपी मेडिकल एंड हेल्थ मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन की लखनऊ शाखा ने भेजा मुख्‍यमंत्री को ज्ञापन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। यूपी मेडिकल एंड हेल्थ मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन ने उत्तर प्रदेश सरकार की स्वच्छ छवि को जानबूझकर धूमिल करने का आरोप लगाते हुए स्वास्थ्य विभाग के निदेशक प्रशासन डॉक्टर राजा गणपति आर को निलंबित कर उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग मुख्यमंत्री से की है, साथ ही अनियमित रूप से किये गये स्‍थानांतरणों को निरस्‍त करने की मांग भी की गयी है।

यह जानकारी देते हुए एसोसिएशन की लखनऊ शाखा के जिलाध्यक्ष अखिलेश श्रीवास्तव व जिला मंत्री रजनी शुक्ला ने बताया कि इस आशय का ज्ञापन मुख्यमंत्री को संबोधित इस आशय का ज्ञापन आज मुख्य चिकित्सा अधिकारी को सौंपा गया।

नेताद्वय के हस्‍तारक्षित ज्ञापन में कहा गया है कि निदेशक प्रशासन द्वारा संपूर्ण उत्तर प्रदेश में कार्यरत लिपिक वर्गीय कर्मचारियों की कुल संख्या 2817 के सापेक्ष 1772 लिपिक वर्गीय कर्मियों के स्थानांतरण एवं समायोजन कर दिए गए जो कि शासन द्वारा स्थानांतरण के लिए निर्धारित की गई अधिकतम 20% की सीमा के विपरीत 60.95 फीसदी है।

ज्ञापन में कहा गया है कि निदेशक प्रशासन की मान्यता इसी से परिलक्षित होती है कि उनके द्वारा 250 महिला कर्मियों को भी उनके वर्तमान तैनाती स्थल से लगभग 300 किलोमीटर से लेकर 1000 किलोमीटर से अधिक दूरी पर स्थानांतरित किया गया है। ज्ञापन में कहा गया है कि‍ निदेशक प्रशासन का यह प्रयास सरकार की छवि को आम नागरिकों एवं कर्मचारियों में धूमिल किए जाने का द्योतक है जिसे न्याय हित में तत्काल निरस्त किया जाना अत्यंत आवश्यक है।

ज्ञापन के अनुसार स्थानांतरण आदेशों में शासन द्वारा स्थानांतरण से मुक्त रखे गए मान्यता प्राप्त संघ के पदाधिकारियों दाम्पत्य नीति के अंतर्गत कार्यरत कर्मियों, दिव्यांग कर्मियों, असाध्य रोग से ग्रसित कर्मियों, सेवानिवृत्ति‍ में 2 वर्ष से कम अवधि वाले कर्मियों, वर्तमान जनपद में विगत 2 से 3 वर्ष पूर्व ही स्थानांतरित होकर आए कर्मियों को 300 किलोमीटर से लेकर 1000 किलोमीटर तक दूरस्थ स्थानों पर स्थानांतरित किया गया है। ज्ञापन में कहा गया है कि ऐसी स्थिति में संघ द्वारा आंदोलन पर जाने का अप्रिय निर्णय लिया गया है ज्ञापन में मांग की गई है कि डॉ राजा गणपति आर. द्वारा की जा रही प्रशासनिक अनियमितता के दृष्टिगत उन्हें निलंबित कर उच्च स्तरीय जांच कराएं तथा शासन की नीति के विपरीत किए गए अनियमित एवं मनमाने स्‍थानांतरणों की तीनों सूचियों को निरस्त कराया जाए।

इस बीच एसोसिएशन की लखनऊ शाखा के अध्‍यक्ष अखिलेश श्रीवास्‍तव, मंत्री रजनी शुक्‍ला के नेतृत्‍व में सीएमओ कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन आज दूसरे दिन भी जारी रहा। धरने में बड़ी संख्‍या में कर्मचारियों में महिला कर्मी भी शामिल रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 13 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.