घेराव व धरने के पहले दिन ही डिप्‍लोमा फार्मासिस्‍ट संघ को सफलता

-लिखित समझौते के बाद संघ ने स्‍थगित किया घेराव व धरना कार्यक्रम

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। डिप्‍लोमा फार्मासिस्‍ट एसोसिएशन अपनी मांगों को लेकर सफलता की एक पायदान पर चढ़ गया। आपको बता दें बुधवार को स्‍वास्‍थ्‍य महानिदेशालय के घेराव और धरने के पहले दिन ही आज लिखित समझौते के बाद क्रमिक धरना प्रदर्शन स्थगित कर दिया गया। उच्‍च अधिकारियों से सहमति के बाद हुए लिखित समझौते में अधिकारियों द्वारा मांगों को पूरा करने के लिए 15 दिनों का समय मांगा गया है।

एसोसिएशन के महामंत्री श्रवण सचान ने यह जानकारी देते हुए बताया कि निदेशक पैरामेडिकल ने एक लिखित समझौते के साथ लम्बित मांगों को पूरा करने के लिए 15 दिन का समय मांगा है। उन्‍होंने पदाधिकारियों के साथ वार्ता करते हुए यह आश्वासन दिया है कि आगामी 15 दिनों के अंदर प्रदेश के फार्मासिस्ट की सभी प्रकार की लंबित मांगों को अपने स्तर से तत्काल पूरा कर दिया जाएगा।

इससे पूर्व धरने के दौरान महानिदेशालय की ओर से मिले आश्‍वासन पर श्रवण सचान ने बताया कि जब तक लिखित समझौता नहीं होगा तब तक हम इस धरने को नहीं समाप्त करेंगे जिस पर महामंत्री की बातों का समर्थन करते हुए अध्यक्ष संदीप बडोला एवं प्रांतीय कार्यकारिणी ने भी महानिदेशालय पर दबाव बनाया जिस पर एक सहमति बनते हुए महानिदेशक की अनुपस्थिति में उनसे फोन से वार्ता करके एवं प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार से फोन पर सहमति ले कर निदेशक पैरामेडिकल ने एक लिखित समझौता दिया। इसके बाद संघ ने अपना क्रमिक धरना एवं प्रदर्शन अगले आदेशों तक स्थगित कर दिया। प्रान्तीय कोषाध्यक्ष रजत यादव ने बताया कि यह अपने आप में संघ की एक बहुत बड़ी सफलता है।